राजनीती

कांग्रेस और मनमोहन सिंह की ईमानदारी को लगा अब तक का सबसे बड़ा झटका।

अगस्ता वेस्टलैंड स्कैम में मनमोहन सिंह से पूछताछ कर सकती है CBI।

अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीद घोटाले में आरोपी पूर्व वायु सेना अध्यक्ष एसपी त्यागी ने कोर्ट को बताया कि हेलीकॉप्टर खरीद का निर्णय उन्होंने अकेले नहीं लिया था। इसकी जानकारी तत्कालीन प्रधानमंत्री कार्यालय को भी थी। शुक्रवार को पटियाला हाउस कोर्ट ने एसपी त्यागी, उनके रिश्ते के भाई संजीव त्यागी उर्फ जूली व वकील गौतम खेतान को 14 दिसंबर तक के लिए सीबीआइ हिरासत में भेज दिया। इन सभी पर 3,600 करोड़ रुपये में हेलीकॉप्टरों की खरीद के लिए 423 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने का आरोप है।

Agusta Westland deal, vvip chopper deal, vvip chopper scam, agusta westland scam, india chopper scam, vvip scam, india news, latest news

महानगर दंडाधिकारी सुजीत सौरभ ने कहा कि निष्पक्ष जांच के लिए हिरासत में पूछताछ करने की जरूरत है। सीबीआइ के अधिवक्ता राजमोहन चंद ने तीनों की 10 दिन की हिरासत की मांग की। उन्होंने कहा कि घोटाला बहुत बड़ी साजिश का हिस्सा, जिसका अंतराष्ट्रीय प्रभाव है। मामले में अन्य लोगों की भागीदारी से भी इन्कार नहीं किया जा सकता ।

Tyagi Scam

खुलासे के बाद सोनिया गाँधी भी बुरी तरह से घिरती नज़र आ रही है, अगर CBI ने मनमोहन सिंह पे कार्यवाही की, और मनमोहन सिंह सोनिया गाँधी के लिए  वफ़ादारी भुला के सच बोल बैठे सोनिया गाँधी का नाम ले बैठे तो ये कांग्रेस युग के अंत में अंतिम कील साबित होगा !

sonia-in-auusta-scam

एसपी त्यागी ने वायु सेना अध्यक्ष के पद पर रहते हुए प्रॉपर्टी में बड़े निवेश किए और आय के माध्यम का नहीं दर्शाया। सीबीआइ ने एसपी त्यागी, उनके भाई संजीव त्यागी व वकील गौतम खेतान को शुक्रवार को गिरफ्तार किया था। एसपी त्यागी के बचाव पक्ष ने दावा करते हुए कहा कि 2005 में हेलिकॉप्टर खरीदने की शर्तों के बदलाव के फैसले में पीएम ऑफिस भी शामिल था। उस वक्त मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे।

AgustaWestland chopper scam: Rahul Gandhi's close aide Kanishka Singh under scanner
AgustaWestland chopper scam: Rahul Gandhi’s close aide Kanishka Singh under scanner

हेलीकॉप्टर कंपनी को फायदा पहुंचाने के लिये प्रधानमंत्री कार्यालय ने शर्तों में फेरबदल किया था। अब जैसे ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का नाम सीधा सीधा घोटाले में आया है तो अब उन पर करवाई भी हो सकती है उसकी शुरुआत सीबीआई जाँच से होगी ।। लेकिन अब असहिष्णुता का राग दुवारा अलापा जा सकता है विपक्ष की तरफ से क्योकि जब भी सरकार कोई बड़ी करवाई करने जाती है तो विपक्ष को देश में असहिष्णुता नजर आने लगती है।।

Related posts

2014 से अब तक, मोदी का जलवा बरकार – बनने जा रहे विश्व के No . 1

Viral Bharat

हिमाचल के इन क्षेत्रों को जय राम सरकार का बड़ा तौफा,पर्यटन और साहसिक खेलों के लिए विकसित करेगी सरकार

Viral Bharat

BREAKING NEWS : हिमाचल पुलिस लिखित परीक्षा में हुई धांधली को लेकर परीक्षा को जयराम सरकार ने प्रदेश के युवाओं के हित में किया रद्द,अब तक 6 आरोपी गिरफ्तार

Viral Bharat