राजनीती वायरल

मोदी सरकार बनाने जा रही दुनिया की सबसे ताकतवर सेना !

एक कहावत है की जिस देश की सेना ताकतवर हो बो देश भी ताकतवर होता है और इसी कहावत को मोदी सरकार सच करते हुए आज देश को ताकतवर करने में लग पड़ी है। भारत तेजी से अपनी सेना के आधुनिकीकरण पर जोर दे रहा है और रक्षा बजट में इजाफा भी कर रहा है।

 modi-indian-army-tank

भारत सरकार ने की बजह से आज भारत रक्षा पर खर्च करने वाले दुनिया के शीर्ष पांच देशों में शामिल हो गया है। रक्षा बजट के इस मामले में अमेरिका, चीन और ब्रिटेन के बाद भारत का चौथा स्थान है। पर जिस स्पीड से मोदी सरकार सेना का आधुनिकीकरण करती जा रही है, उस हिसाब से भारतीय सेना दुनिया की सबसे ताकतवर सेना में शामिल  हो जायेगी !

indian-army-modi-modernisation

रिसर्च कंपनी IHS मार्केट की ओर से जारी ‘2016 जेन्स डिफेंस बजट्स रिपोर्ट’ के मुताबिक अमेरिका, चीन और ब्रिटेन रक्षा पर खर्च करने वाले विश्व के तीन शीर्ष देश बने हुए हैं।

PM Modi on Indian army,Narendra Modi,israel s defence forces,Indian Army

भारत ने इस साल रक्षा पर 50.7 अरब डॉलर (करीब 3.41 लाख करोड़ रुपये) खर्च किया जो कि पिछले वर्ष के 46.6 अरब डॉलर से अधिक है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अपने आधुनिकीकरण अभियान के परिणामस्वरूप भारत का 2018 तक ब्रिटेन को पीछे छोड़ना तय प्रतीत होता है क्योंकि उसका रक्षा बजट विश्व का तीसरा सबसे बड़ा बजट हो जाएगा। वहीं ब्रिटेन की तरफ से छपने बाली रक्षा पत्रिका ने भविष्यवाणी की है कि भारत इसी तरह आगे बढ़ता रहा तो भारत का रक्षा खर्च 2010 में जो सिर्फ 38 अरब डॉलर था बो सीधा बढ़कर 2020 में 64 अरब डॉलर हो जाएगा। 

PM Modi on Indian army,Narendra Modi,israel s defence forces,Indian Army

अमेरिका इस वर्ष 622 अरब डॉलर के रक्षा बजट के साथ विश्व में सबसे आगे रहा। वहीं चीन का रक्षा बजट 191.7 अरब डॉलर जबकि ब्रिटेन का रक्षा बजट 53.8 अरब डॉलर का रहा। रूस का रक्षा बजट 48.44 अरब डॉलर का था। IHS जेन्स में एशिया प्रशांत के प्रधान विश्लेषक क्रेग कैफ्रे ने कहा कि भारत रक्षा आपूर्तिकर्ताओं के लिए बड़े बाजार के तौर पर उभरेगा।

PM Modi on Indian army,Narendra Modi,israel s defence forces,Indian Army

रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल दुनियाभर में रक्षा खर्च एक फीसद की वृद्धि के साथ 1.6 ट्रिलियन डॉलर हो गया। जबकि 2015 में इसमें 0.6 फीसद की वृद्धि हुई थी। यह बढ़ोतरी रूस से उत्पन्न खतरे और मध्य पूर्व में आतंकी संगठन आइएस के चलते हुई है। रिपोर्ट में चीन को लेके भी एक बहुत बड़ी भविष्यवाणी की गई है कि 2020 तक चीन पूरे पश्चिमी यूरोप जितना रक्षा पर खर्च करेगा। 2025 तक उसका रक्षा खर्च एशिया प्रशांत क्षेत्र के सभी देशों के कुल रक्षा खर्च से ज्यादा हो जाएगा।

Related posts

अफसरशाही पर जयराम सरकार ने कसी नकेल, दो हफ्ते में सौंपनी होगी रिपोर्ट

Viral Bharat

ब्रेकिंग : शाहरुख़ खान और ओवैसी में सांठ गांठ ..बॉलीवुड के जरिये कर रहे ओवैसी को प्रमोट

Viral Bharat

Himachal News – मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को कोविड-19 के लिए उठाए जा रहे कदमों से करवाया अवगत

Viral Bharat