व्यक्तित्व

राकेश झुनझुनवाला : भारतीय स्टॉक मार्किट का बेताज बादशाह

राकेश झुनझुनवाला : शेयर बाज़ार का बेताज बादशाह

राकेश झुनझुनवाला एक ऐसे इंसान हैं जिन्हें भारत का वारेन वफेट कहा जाता हैं ! भारतीय शेयर बाज़ार के बेताज बादशाह की जिसको हर शेयर बाज़ार में काम करने वाला इंसान अपना गुरु मानता हैं !

Rakesh Jhunjhunwala,rakesh jhunjhunwala,rakesh jhunjhunwala portfolio,rakesh jhunjhunwala holding,rakesh jhunjhunwala latest portfolio,Rakesh Jhunjhunwala stock holding

राकेश झुनझुनवाला मुंबई के ही रहने वाले हैं और उनके पिता आयकर विभाग में ऑफिसर थे ! राकेश ने पहले कॉलेज से पढाई की इसके बाद इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर अकाउंटेंट इंडिया में दाखिला लिया !राकेश झुनझुनवाला आज एक सफल कारोबारी हैं और एप्टेक कंपनी और हंगामा डिजिटल एंटरटेनमेंट के चेयरमैन भी हैं ! झुनझुनवाला ने अपना सफ़र बहुत ही कम पैसो में किया और आज कहा जाता हैं की उनके पास इतना पैसा हैं की वो हर घंटे एक बीएम्डव्लू और ऑडी खरीद सकते हैं !राकेश की इसी सफलता को देखते हुए इंडिया टुडे मैगजीन ने उन्हें “ पिन अप बॉय ऑफ़ दा करंट रेड बुल ” और और इकोनॉमिक्स टाइम्स ने उन्हें “ पाईड पाइपर ऑफ़ इंडियन बौर्सेस ” के खिताब से नवाजा हैं !राकेश झुनझुनवाला एक ही बात कहते हैं “ बाई राईट एंड होल्ड टाइट ” यानी की सही चीज खरीदो और उसे पकड़ के रखो ! राकेश झुनझुनवाला खुद की एप्टेक के मालिक तो हैं ही साथ ही वो प्राइम फोकस लिमिटेड, गोजित बीएनपी  परिबास फाइनेंसियल सर्विस लिमिटेड, बिलकेयर लिमिटेड, प्राज इंडस्ट्रीज लिमिटेड, प्रोवोगुए इंडिया लिमिटेड, कांकोर्ड बायोटेक लिमिटेड,  मिड डे मल्टीमीडिया लिमिटेड, नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड, वाइसराय होटल्स लिमिटेड और टॉप्स सिक्यूरिटी लिमिटेड जैसी बड़ी बड़ी कम्पनियों के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर भी रह चुके हैं !

Rakesh Jhunjhunwala,rakesh jhunjhunwala,rakesh jhunjhunwala portfolio,rakesh jhunjhunwala holding,rakesh jhunjhunwala latest portfolio,Rakesh Jhunjhunwala stock holding

राकेश झुनझुनवाला को भारतीय बाज़ार का वारेन बफेट कहा जाता हैं की जैसे बफेट दुनिया में शेयर मार्केट के गुरु हैं वैसे ही झुनझुनवाला भारतीय बाज़ार के गुरु हैं !आज झुनझुनवाला किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं !राकेश का कहना हैं की वो अपने काम को बहुत एन्जॉय करते हैं और ये जरूरी नहीं हैं की मैं वैश्विक कुबेरों की सूची में शामिल हुआ या नहीं क्योकि मंदी में सबका नुकसान और तेजी में सबका फायदा होता हैं !

कई बार राकेश झुनझुनवाला को नुकसान भी हुआ लेकिन अपनी सूझ बूझ और चालाकी से जल्दी ही उन्होंने उसे फायदे में बदल दिया ! एक ऐसा इंसान जिसने सब कुछ अपने दम में बनाया हैं !

Related posts

कंगना अपने स्टेटमेंट पे कायम,भारतीय संस्कृति और और गौमाता पे अपने विचारों से उड़ाई छद्द्म उदरवाइदयों की धज्जियां !

Viral Bharat

800 रूपये महीना कमाने वाले “जैक मा” ने बनाई 10 लाख करोड़ की कंपनी

Viral Bharat

तृप्त सिंह – मोदी प्रशंसक, पंजाबी शेर, 25 साल के युवा भी इनसे घबराते हैं.

Viral Bharat