राजनीती राज्यों से

हिन्दू विरोधी छवि के लिए वख्यात कांग्रेस फिर कठघरे में,राहुल गाँधी ने हिंदुत्व पर दिया ऐसा बयान सियासत में आया भूचाल बीजेपी प्रवक्ता ने खोली पोल

कांग्रेस पर हिन्दू विरोधी होने के आरोप आज से नहीं बहुत पहले से लगते रहे हैं.खुद पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस के सबसे दिग्गज नेता प्रणब मुखर्जी अपनी किताब में ये बात लिख चुके हैं की सोनिया गाँधी हिन्दू विरोधी है.लोकसभा चुनावों से पहले भी कांग्रेस के कारनामे उसे हिन्दू विरोधी साबित करते रहे हैं.एक ऐसा काला बिल वो 2011 में लाने जा रहे थे जो पुरे हिन्दू समाज को दबने पर मजबूत कर देता लेकिन बीजेपी और हिन्दू संगठनों के विरोध की वजह से कांग्रेस उसे नहीं ला पाई थी.

कांग्रेस के नेता भी हर समय हिन्दू धर्म को लेकर उलटे सीधे बयान देते रहे हैं.खुद विक्लिस के खुलासे ने कांग्रेस को कठघरे में खड़ा कर दिया था जिसमें बताया गया था की राहुल गाँधी ने विदेशी धरती पर एक इंटरव्यू के दौरान बताया था की भारत को हिन्दू आंतकवाद से ज्यादा खतरा है.खैर अब बात करते हैं कल की जिसके बाद से ही सियासत में भूचाल आया हुआ है और कांग्रेस सीधे तौर पर बैकफुट पर है.

एक इंटरव्यू के दौरान राहुल गाँधी से सवाल किया गया की क्या वो अब सॉफ्ट हिंदुत्व की तरफ जा रहे हैं.इस पर जो जवाब राहुल गाँधी ने दिया उसे सुनकर लोगों में काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है.संपादकों के साथ बातचीत में, राहुल गांधी इस बात से सहमत नहीं थे कि वह बहुसंख्यक समुदाय को खुश करने के लिए नरम हिंदुत्व को स्वीकार कर रहे थे। उन्होंने कहा, “मैं किसी भी तरह के हिंदुत्व, मुलायम या कठोर में विश्वास नहीं करता हूं।”यानि राहुल गाँधी का साफ़ तौर पर कहना है की वो हिन्दू धर्म पर विस्वास नहीं करते हैं.

इस तरह का बयान खुले तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी की तरफ से आना ये साफ़ बताता है की अब एक समुदाय के वोट बैंक के लिए वो खुले तौर पर हिन्दू समाज की आलोचना करने से भी पीछे नहीं रहने वाले हैं.एक तरफ जहां मोदी सबका साथ सबका विकास की बात करती है तो दूसरी तरफ राहुल गाँधी एक समुदाय के वोट बैंक को खुश करने के लिए हिन्दू धर्म का अपमान करने से पीछे नहीं रहते।आज बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके राहुल गाँधी के इस बयान पर जमकर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है.

आपको जानकर हैरानी होगी की पिछले लोकसभा चुनाव हारने के बाद सोनिया गाँधी द्वारा एक कमेटी बनाई गयी थी ताकि हार के कारणों का पता लग सके.उस जाँच कमेटी ने साफ़ तौर पर कहा था कि कांग्रेस की हार की सबसे बड़ी वजह उसकी हिन्दू विरोधी छवि है और उसे ये छवि बदलने की जरूरत है.पर जिस तरह से अभी भी कांग्रेस के नेता खुद राहुल गाँधी हिन्दू समाज को नीचा दिखाने में लगे हुए हैं उससे नहीं लगता कांग्रेस ने पिछले लोकसभा चुनाव की हार से कोई सीख ली है.

कर्नल पुरोहित हो या साध्वी प्रज्ञा जिसे कांग्रेस ने अपने राज में जेल में बंद किया झूठे हिन्दू आंतकवाद के आरोप लगाए लेकिन मोदी सरकार के आते ही वो जेल से बाहर आये साथ ही कांग्रेस के काले कारनामों की पोल भी खोली।इस निचे दी गयी वीडियो को देख आप भी सहम जाओगे !

अवैध बांग्लादेशियों को देश से बाहर करने वाले मोदी सरकार के फैसले के विरोध में कांग्रेस सबसे आगे खड़ी नजर आई.आज देश के लोगों के अंदर सिर्फ एक ही सवाल है आखिर कब तक वोट बैंक के लिए कांग्रेस ये गंदा खेल खेलती रहेगी ? अब राहुल गाँधी के इस हिन्दू समाज विरोधी बयान का असर चुनावों में कांग्रेस को कितना नुकसान देता है ये आने वाला वक़्त ही बताएगा !

Related posts

आरोप झूठे साबित होने के बाद, OSD शिशु धर्मा के इस कड़े कदम से आरोप लगाने वालों में मची खलबली,आप भी रह जाओगे दंग

Viral Bharat

केजरीवाल की मुस्लिम नेताओं से मिलीभगत : AAP पंजाब में उर्दू को बनाएगी राजभाषा, तोड़ेंगे पंजाबी की हकूमत

Viral Bharat

रतलाम – हाथ चूम कर लोगों का इलाज करने वाले असलम बाबा की कोरोना से मौत, 29 को बांट गया वायरस, लोगों की तलाश जारी

Viral Bharat