राजनीती राज्यों से

खुशखबरी हिमाचल में आसान हुआ बिजली बिल जमा करना,लाइन में लगने का झंझट खत्म

हिमाचल में अब बिजली बिल जमा करवाने के लिए उपभोक्ताओं को कैश काउंटरों पर लाइनों में खड़ा नहीं होना पड़ेगा। राज्य बिजली का बिलिंग डाटा केंद्र सरकार के भारत बिल पेमेंट सिस्टम पर अपलोड हो गया है।मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के सत्ता में आने के बाद से ही केंद्र सरकार की तरफ से हिमाचल के लिए बहुत कुछ किया जा रहा है।

इस सिस्टम के तहत उपभोक्ता देश के 18 बैंकों के गेटवे का इस्तेमाल कर ऑनलाइन बिजली बिल जमा करवा सकेंगे। इसके अलावा चार मोबाइल फोन एप्लीकेशनस के जरिये भी बिल जमा करवाने की सुविधा मिलेगी।

वर्तमान में प्रदेश के 19 लाख से अधिक बिजली कनेक्शन धारकों को ऑनलाइन तरीके से बिल जमा करवाने के लिए राज्य बिजली बोर्ड अपनी वेबसाइट पर भी सुविधा दे रहा है। बोर्ड की वेबसाइट पर एचडीएफसी और आईसीआईसीआई बैंक के गेटवे के माध्यम से उपभोक्ता बिल जमा करवा सकते हैं।

लेकिन इस प्रक्रिया के तहत उपभोक्ताओं को पहले लॉग इन बनाना पड़ता है। इसके बाद उपभोक्ताओं को पासवर्ड दिया जाता है। इस प्रक्रिया में उलझने से बचने के लिए अधिकांश लोग लाइनों में खड़े होकर काउंटर पर बिल जमा करवाने को ही तरजीह देते हैं।

ऐसे में बोर्ड प्रबंधन ने जटिल प्रक्रिया को सरल करते हुए भारत बिल पेमेंट सिस्टम पर अपना बिलिंग डाटा अपलोड कर दिया है। अब प्रदेश के बिजली उपभोक्ता मोबाइल फोन से ही घर या दफ्तर में बैठकर भी बिल जमा करवा सकेंगे।इसके लिए उपभोक्ताओं को अलग से कोई शुल्क भी नहीं देना होगा।

ऑनलाइन बिल जमा करवाने के लिए लगने वाले ट्रांजेक्शन चार्जिस बिजली बोर्ड स्वयं वहन करेगा। ऑनलाइन बिजली बिल जमा करवाने को एसबीआई, आईसीआईसीआई, पीएनबी, बैंक आफ बरोडा, सेंट्रल बैंक आफ

इंडिया, इलाहाबाद बैंक, कैनरा बैंक, इंडियन ओवरसीस बैंक, इंडसलैंड बैंक, जेएंडके बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, यूनाइटेड बैंक, फेडरल बैंक, डीसीबी बैंक, यस बैंक, ओरियंटल बैंक आफ कामर्स और यूको बैंक का भी अब गेट वे मिलेगा।

पेटीएम, मौबी क्वीक, फोन पे और आक्सीजन एप्लीकेशन को मोबाइल फोन पर डाउनलोड कर उपभोक्ता ऑनलाइन बिजली बिल जमा करवा सकेंगे। ऑनलाइन बिल जमा करवाना व्हाटसएप करने जैसा आसान है। भारत बिल पेमेंट सिस्टम पर जाकर उपभोक्ताओं को अपना राज्य चुनना होगा।

वहां अपने बिजली कनेक्शन का अकाउंट नंबर लिखना होगा। नंबर लिखते ही बिल सामने आ जाएगा। इसके बाद किसी भी बैंक के गेटवे के माध्यम से बिल जमा करवाया जा सकेगा। डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, भीम एप के जरिये भी उपभोक्ता पेमेंट कर सकेंगे।

प्रदेश में वर्तमान में सिर्फ 25 फीसदी उपभोक्ता ही डिजिटल तरीके से बिल पेमेंट करते हैं। इन उपभोक्ताओं की संख्या बढ़ाने के लिए बिजली बोर्ड ने भारत बिल पेमेंट सिस्टम से खुद को जोड़ा है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ऊर्जा तरुण कपूर का कहना है कि 90 फीसदी उपभोक्ताओं को डिजिटल पेमेंट से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। बोर्ड के सभी कार्यालयों को इस बाबत उपभोक्ताओं को जागरूक करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

Related posts

पालमपुर में नाबालिग छात्र-छात्राओं से छेड़छाड़ व मारपीट करने वाले तीन आरोपित गिरफ्तार,घटना पर समाजसेवी के अलावा लिया था मुख्यमंत्री कार्यालय ने कड़ा संज्ञान

Viral Bharat

हिमाचल के युवाओं के रोजगार स्वरोजगार के मुद्दे पर कांग्रेस का बोलना सिर्फ दिखावा,इस बिल के दौरान कांग्रेस के वाकआउट पर सीएम भी हैरान

Viral Bharat

प्रधानमंत्री मोदी जी के जन्मदिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी के ट्वीट पर इस तरह आई मोदी जी की प्रतिक्रिया।

Viral Bharat