धर्म अध्यात्म राजनीती राज्यों से वायरल

राम मंदिर बनकर रहेगा…न्यायलय से हल नहीं निकला..ऊँगली टेहड़ी करेंगे, लाएंगे संसद में अध्यादेश, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण बनाना हमारा धर्म : केशव मौर्य !

राम जनमभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के पहले, UP के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्या ने एक नया विवादित बयान दे डाला…उन्होंने कहा BJP राम मंदिर निर्माण के लिए वचनबद्ध है, हम माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतज़ार कर रहे हैं…और अदालत से कोई चुनौती मिलेगी तो उसके लिए फिर अध्यादेश लाया जायेगा…फिर चाहे उसके लिए ऊँगली टेहड़ी ही क्यों न करनी पड़े. राम मंदिर BJP और देश के 80 करोड़ हिन्दुओं के लिए धर्म और संस्कृति का विषय है और हम इसके साथ हैं .

मौर्या ने कहा राम मंदिर मुद्दे पर अन्य दलों से पर समर्थन मिलना मुश्किल: इसलिए है क्यूंकि अगर BJP ने ये मुद्दा सुलझा दिया तो या छोटे और बाकी बचे दलों का भारतीय राजनीती में अस्तित्व मिटा देगा…हिंदुत्व के एकीकरण से इन सब दलों के ऊपर अस्तित्व का खतरा मंडराने लगा है, तभी विपक्षी दल नित नई नई विघटनकारी योजनाए निकल के हिन्दू समाज को भटकाने के काम में सुबह शाम लगे हुए हैं…..साथ ही, केशव मौर्य से सवाल पूछा गया कि सरकार ने एससी, एसटी एक्ट और ओबीसी कमीशन के विधेयक को राज्यसभा से पारित करा लिया तो राम मंदिर क्यों नहीं? इस पर मौर्या ने कहा कि सभी को पता है दोनों में अंतर है। इन विधेयकों पर दूसरे दलों का समर्थन मिल गया, लेकिन राम मंदिर पर दूसरे दलों का समर्थन मिलना काफी मुश्किल है।

उत्तर प्रदेश सरकार के डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा, ‘जब दोनों विकल्प खत्म हो जाएंगे तो तीसरा विकल्प संसद से राम मंदिर निर्माण कराने की दिशा में बढ़ेंगे।

राम मंदिर को ले के हिंदुत्व के उभरते फायर ब्रांड योगी आदित्यनाथ कई बार टिप्पणिया कर चुके हैं…अभी कुछ दिन पूर्व राम नंदिर को ले के योगी ने स्पष्ट कहा था – कि राम मंदिर अयोध्या में बनाया जाएगा और सिर्फ से “थोड़ा और धीरज” रखना होगा ! जब आदित्यनाथ, जो अयोध्या में थे, राम जनभूमि न्यास महंत नृत्य गोपाल दास के 80 वें जन्मदिन समारोह में भाग लेने के लिए, “मैरीदा पुरुषोत्तम राम ब्रह्मांड का स्वामी है, जब भी वह उसकी इच्छा होगी, राम मंदिर में बनाया जाएगा अयोध्या। इसमें कोई संदेह नहीं है और यहां तक ​​कि संतों को भी कोई संदेह नहीं होना चाहिए। आपने इतने लंबे समय तक इंतजार किया है, मुझे लगता है कि आपको थोड़ा और धीरज होना चाहिए। ”

आदित्यनाथ ने यह भी कहा था की कि केंद्र और राज्य में बीजेपी सरकार देश की प्राचीन और अयोध्या में परंपराओं को पुनर्जीवित करने के लिए प्रतिबद्ध है । “कुछ लोग इसे पसंद नहीं करते हैं लेकिन हम यह सुनिश्चित करेंगे कि अयोध्या को अंतरराष्ट्रीय मानचित्र पर अपनी पहचान मिल जाएगी। इस बार, दक्षिण कोरिया के प्रमुख दिवाली कार्यों के लिए अयोध्या जाएंगे। अयोध्या के साथ दक्षिण कोरिया का पुराना सांस्कृतिक संबंध है, “उन्होंने कहा था की देश और विदेश में भारतीय संस्कृति और अयोध्या नगरी की एक नई पहचान उभर के सामने आएगी जो देश के लिए सम्मान की बात होगी !

उधर सुप्रीम कोर्ट के फैंसले पर VHP बहुत बेसब्री से इंतज़ार में है. VHP के कार्यकारी अध्यक्ष अलोक कुमार ने भी इस मुद्दे पर हाल ही में टिप्पणियां की थी – उन्होंने कहा था, हम उम्मीद करते हैं कि सुप्रीम कोर्ट इस मामले में सुनवाई तेज करेगी। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस मामले में अदालत में इतने लंबे समय तक आ गया है। यह अच्छा होगा अगर सुप्रीम कोर्ट जल्द से जल्द मामले सुनता है। वकीलों के अनुसार, विश्व हिंदू परिषद या राम लल्ला का मामला मजबूत है। हम मानते हैं कि हम मामले जीतेंगे। अगर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय जल्द ही आता है, तो हम सभी कानूनी बाधाओं को दूर कर सकते हैं और इस साल के अंत तक राम मंदिर का निर्माण शुरू कर सकते हैं।

Related posts

लेफ्टिनेंट जनरल पीके बाली ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से की मुलाकात, सेना में हिमाचल को लेकर की CM ने ये मांग युवाओं का मिला समर्थन

Viral Bharat

ब्रेकिंग : भारत विरोधी गैंग का सरगना कन्हैया कुमार बन गया मुसलमान ?

Viral Bharat

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में अब हिमाचल को मिला कृषि कर्मण्य पुरस्कार,जयराम सरकार का काम बोलता है

Viral Bharat