राजनीती, वायरल

कश्मीर में हिन्दू राजा के राज में शांति और तरक्की थी, हिन्दू और सिख सुरक्षित थे – योगी आदित्यनाथ !

Viral Bharat / October 31, 2018
Yogi Adityanath on Hindus of kashmir

हिंदुत्व के फायर ब्रांड योगी आदित्यनाथ ने एक और बयान दिया है जो चर्चा का विषय बना हुआ है …योगी आदित्यनाथ खुल के हिंदुत्व और भारतीय संस्कृति की वकालत करते हैं और इस्पे चर्चा भी बेबाक करते हैं. न तो योगी आदित्यनाथ बातों को गोल मोल घूमते हैं न ही अपने दिए वक्तव्य से मुकरते हैं…उनके दिए बयान अक्सर विवादित हो जाते हैं !

हमे इतिहास से सीखना और सबक लेना चाहिए, लखनऊ में “यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर तब तक शांतिपूर्ण था जब तक कि यह एक हिंदू शासक (महाराजा हरि सिंह) द्वारा शासित था। श्री आदित्यनाथ, जो लखनऊ में एक सिख समुदाय समारोह को संबोधित कर रहे थे, ने कहा कि हिंदू राजा के नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर में सिख और हिंदू सुरक्षित थे और उनकी विवादास्पद टिप्पणी में शामिल हुए।

hindu sikh unity lucknow, yogi adityanth breaking
Yogi Talks about Hindu Sikh Unity

“अगर हम उन लोगों को अनुमति देते हैं जो सफल होने के लिए मतभेद पैदा करने का प्रयास करते हैं, तो हमारी स्थिति असुरक्षा में होगी, जो अफगानिस्तान में है … हिंदुओं और सिख काबुल में एक प्रभावशाली समूह थे, लेकिन आज लगभग 100 सदस्य हैं इन समुदायों में से वहां छोड़ा गया, और उनकी स्थिति भी बहुत खराब है ”

श्री आदित्यनाथ ने कहा, “जब तक जम्मू-कश्मीर में एक हिंदू शासक था, तब तक हिंदू और सिख दोनों सुरक्षित रूप से रह रहे थे। हालांकि, साम्राज्य समाप्त होने के तुरंत बाद, हिंदू समुदाय में गिरावट देखी गई।”उन्होंने घटना में भाग लेने वाले लोगों से पूछने के लिए कहा: “अब कश्मीर में क्या स्थिति है? क्या हिंदू, वहां रहने वाले सिख अब भी वही बात कह सकते हैं (कि घाटी अभी भी शांतिपूर्ण है)? बिलकुल नहीं। हमें इतिहास से कुछ सीखना चाहिए, “मुख्यमंत्री ने कहा।

गुरु गोबिंद सिंह

इस अवसर पर, श्री आदित्यनाथ ने आठ नए मेडिकल कॉलेज बनाने के अपने सरकार के फैसले की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि सिख गुरुओं का भारत भूमि और हिंदुत्व के लिए योगदान अतुलनीय है, सिख गुरु की 550 वीं जयंती के साथ मिलकर गुरु नानक देव और गोबिंद सिंह के नाम पर उनका नाम रखा जाएगा। 

साथ ही बाद में मीडिया से वार्ता लाप करते हुए अयोध्या मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक ने बड़ा बयान दिया है. यूपी के सीएम ने कहा कि न्याय में देरी से लोगों को निराशा होती है, लेकिन कोई न कोई रास्ता अवश्य निकलेगा. सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए योगी ने कहा, ‘देश की न्यायपालिका के प्रति सबका सम्मान है और हम भी उन संवैधानिक बाध्यताओं से बंधे हुए हैं. स्वाभाविक रूप से अगर न्याय में देरी होती है तो लोगों को निराशा होती है.’