राजनीती राज्यों से वायरल

योगी का जलवा…क्या आज़म खान की घर वापसी करवाने जा रहे योगी ?

Breaking News - Azam Khan Yogi

योगी आदित्यनाथ और आज़म खान…एक दूसरे को जो फूटी आँख देखना पसदं नहीं करते थे…अचानक हाथों में हाथ डाल चलते हुए दिखाई दिए…ये योगी आदित्यनाथ का जलवा है या दबदबा जिसने आज़म खान जैसे हठी और मुंहफट राजनीतिज्ञ को योगी के सामने मुलायम कर दिया ? कभी सत्ता में रहते आज़म खान योगी आदित्यनाथ को नपुंसक बोलते थे और कहते थे योगी आदित्यनाथ अपनी मर्दानगी सिद्ध करें….और आज योगी ने सत्तासीन होकर अपनी शक्ति सिद्ध कर दी तो आज़म खान उनके साथ हाथों में हाथ दाल मंद मंद मुस्करान देते हुए मीडिया का केंद्र बन गए !

Yogi Adityanath and Azam Khan Together

योगी आदित्यनाथ के सामने आज़म खान की मुलायम पड़ती दबंगई देख सारा मीडिया जगत और खासकर अखिलेश यादव सकते में हैं…अखिलेश यादव योगी और मुलायम के हाथों में हाथ देख के तिलमिला उठे हैं…पर इस नयी रणनीति को समझने की कोशिश करने में जुटे हैं….साफ़ संकेत हैं इसमें समाजवादी पार्टी में अखिलेश को हाशिये पे डालने के लिए आज़म खान ने पांसा फेंका है ! अखिलेश यादव का समाजवादी पार्टी में एकछत्र प्रभुत्व काम करने की फ़िराक में लगते हैं…और वर्तमान राजनैतिक परिवेश में योगी के साथ हाथों में हाथ दाल उन्होंने इस बात को प्रमाणित कर दिया है !

अभी कुछ दिन पहले प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पे राजनैतिक तंज कस्ते हुए, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री आज़म खान ने कहा है कि भगवान राम की भव्य मूर्ती अयोध्या में जल्द ही स्थापित होनी चाहिए और नव निर्मित सरदार वल्लभभाई पटेल के मूर्ति ‘एकता की प्रतिमा’ से अधिक लंबी होनी चाहिए।

आज़म खान ने कहा, “भगवान राम की मूर्ति, जो कि मंदिर शहर में सरयू नदी के पास बनाई जा सकती है, को हाल ही में निर्मित सरदार वल्लभाई पटेल की मूर्ति की तुलना में लंबा बनाया जाना चाहिए…साथ में उन्होंने कहा मैं अचभित हूँ आजतक किसी ने इस विषय पे गंभीरता से क्यों नहीं सोचा. मैं रामपुर में भगवान राम की एक और लंबी मूर्ति चाहता हूं, “खान ने कहा ।

आज तक हिंदुत्व और BJP के प्रखर विरोधी माने जाने वाले आज़म खान के बदले बदले सुर देख के किसी को संह नहीं आ रहा की असल में मुद्दा क्या है ? धुंधर राजनैतिक विश्लेष्यज्ञों के माने तो इसकी सीढ़ी चोट अखिलेश यादव के राजनैतिक भविष्य पर है, अगर आयने वाले लोकसभा चुनावो में अखिलेश यादव के नेत्तृत्व में समाजवादी पार्टी और कमज़ोर पड़ती है, और बुरा प्र्दर्ष्ण होता है तो निश्चित ही अखिलेश यादव के प्रभुत्व को चारों और से चुनौती मिलेगी और आज़म खान इसका पूरा फायदा उठा सकते हैं !

Azam Khan wants to Destablise Akhilesh Yadav

आज़म खान अखिलेश और मुलायम सिंह में छतीस के आंकड़े को बखूबी समझते हैं और इसका जम कर फयदा उठाने के मूड में नज़र आ रहे हैं…अब देखना ये है भविष्य में राजनीती का ऊँट किस करवट बैठता है…फिलहाल अखिलेश यादव आज़म खान के इस अप्रत्याशित बदलाव से सकते में हैं और मीडिया में कोई बयान देने से बच रहे हैं.

Related posts

Breaking – अब और 2 सप्ताह के लिए बढ़ा Lockdown, MODI सरकार ने जारी किया आदेश

Viral Bharat

अफवाहों पर ध्यान न दे जानिए आज कितने मामले पॉजिटिव आये सामने, घरों में रहे सुरक्षित रहे सरकार के आदेशों का पालन करे

Viral Bharat

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज बागाचनोगी में की कई घोषणाएं,खुलेगी उप-तहसील

Viral Bharat