राजनीती राज्यों से

शिक्षा विभाग में खुला नौकरी का पिटारा, सरकारी स्कूलों में भरे जाएंगे 4000 शिक्षकों के पद, जानिए किस विभाग को कितने पद

रकारी स्कूलों में नियमित शिक्षकों का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए राहत की एक बड़ी खबर है. नए साल से सरकारी स्कूलों में छात्रों को हर विषय के नियमित शिक्षक मिलेंगे. निदेशालय द्वारा सरकार को खाली पड़े 5 हजार शिक्षकों के पदों को भरने के लिए भेजे गए मांगपत्र पर मंजूरी की मुहर लगाते हुए वित्त विभाग ने 4 हजार पदों को भरने की मंजूरी दी है.

बताया जा रहा है कि प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय स्कूलों में खाली पदों को भरने के कवायद जल्द शुरू कर देगा. वित्त विभाग से शिक्षकों के पदों को भरने की मंजूरी मिलने के बाद प्रदेश में दो महीने के अंदर हजारों शिक्षकों की नियमों के तहत नियुक्तियां की जाएगी. सरकारी स्कूलों में होने वाली शिक्षकों की यह भर्तियां विभिन्न कैटेगिरी में होगी.

शिक्षा विभाग के भेजे गए पत्राचार में शिक्षा विभाग ने जेबीटी के 671 और टीजीटी के 1100 और सीएंडवी के लगभग 2500 से ज्यादा शिक्षकों के पदों को भरने की मंजूरी मांगी है, लेकिन अब जब 4 हजार पद भरने को ही मंजूरी दे दी है.या फिर कुछ इस तरह ये सीटें भरी जा सकती है 919 जेबीटी, 1367 सीएंडवी और 1901 टीजीटी के पद।

बता दें कि प्रदेश में पहले 10 हजार शिक्षकों के पद खाली पड़े हुए थे. हाईकोर्ट और सरकार के दबाव में आकर शिक्षा विभाग ने अधिकतर पदों को भर भी दिया है. टीजीटी और जेबीटी शिक्षकों की भर्ती तो अभी भी बैचवाइज और कमीशन के माध्यम से हो रही है. प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय का दावा है कि प्रदेश में कुछ महीनों से अधिकतर जिलों में शिक्षकों की कमी को दूर कर लिया गया है.

मौजुदा समय में प्रदेश में शिक्षकों के 5 हजार ही पद खाली पड़े हुए हैं. राज्य के सरकारी स्कूलों में ज्यादातर सीएंडवी शिक्षकों के पद खाली चल रहे हैं. जिसमें हिन्दी, संस्कृत, ड्राइंग और कई भाषा से जुड़े विषय है. सीएंडवी शिक्षकों की भर्ती का मामला कोर्ट में भी चला हुआ है. वित्त विभाग से मंजूरी मिलने के बाद अब विभाग इन पदों को ही भरेगा.

प्रदेश सरकार ने शिक्षा विभाग को 31 दिसंबर तक राज्य के सरकारी स्कूलों में खाली पड़े शिक्षकों के पदों को भरने के निर्देश दिए हैं. इसी तय समय के बीच में मंजूर किए गए 4 हजार शिक्षकों के पद भरे जायेंगे. प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय के निदेशक रोहित जम्वाल ने बताया कि सरकार को पत्राचार में 5 हजार पद भरने की अनुमति मांगी गई थी, लेकिन 4 हजार पद वित्त विभाग ने मंजूर किए हैं. अब जल्द ही शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया भी शुरू कर दी जाएगी.

Related posts

हिमाचल कैबिनेट मीटिंग में एक बार फिर खुला नौकरियों का पिटारा इतने पदों को भरने की दी मंजूरी, जानिए 18 बड़े फैसले

Viral Bharat

Himachal News – CM जयराम का सख्त रुख,मास्क-सेनेटाइज़र्स की जमाखोरी एवं मुनाफाखोरी पर होगी दंडात्मक कार्रवाई

Viral Bharat

करावल नगर ग्राउंड रिपोर्ट – हमारी बेटियों को नंगा करके भेजा दंगाइयों ने, कपड़े उतारकर अश्लील हरकतें की’

Viral Bharat