राजनीती, राज्यों से, वायरल

Breaking : मध्यप्रदेश में कांग्रेस सत्ता में आते ही RSS और हिन्दुवादी संगठनों पे बैन लगाएगी !

Viral Bharat / November 11, 2018

भारत में हिन्दू सम्प्रदाय को तोड़ने वाली और मुग़लों की नीति पे चलने वाली कांग्रेस ने MP अपने आधिकारिक घोषणापत्र में वादा किया है की वो सत्ता में आते ही RSS और हिंदूवादी संगठनों पे बैन लगा देगी. यही कांग्रेस कभी लश्करे तैयबा, हरकत उल अंसार, पीपल फ्रंट ऑफ़ इंडिया जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ मुँह से एक शब्द तक नहीं निकालती. कांग्रेस का एजेंडा स्पष्ट है, अगर हिन्दू समुदाय ने जातियों में बंट के कांग्रेस को वोट दिया तो भश्विष्य में भारत में ही हिंदू अल्पसंख्यक बन जायेगे.

कांग्रेस को मालूम है की BJP की शक्ति केवल हिन्दू समाज की एकजुटता में है और उसकी शक्ति को कमज़ोर करने के लिए कांग्रेस आये दिन घटिया जातिवादी हथकंडे अपनाती है.खैर कांग्रेस ने MP चुआवों से पहले ही हिन्दू समाज के प्रति अपना विषैला चेहरा दिखा दिया. अब सोचना हिन्दू समाज को है की अगर MP में कांग्रेस को जितवाया तो क्या हश्र होने वाला है ! ये मात्रा कोरी अफवाह नहीं, पर आधिकारिक तौर पे कांग्रेस कांग्रेस ने शनिवार को मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों से पहले कई वादों के साथ अपना चुनाव घोषणापत्र जारी किया।

Congress to BAN RSS

संयोग से घोषणापत्र में किए गए वादे में से एक आरएसएस ‘शाखाओं’ को सरकारी भवनों में प्रवेश करने की अनुमति नहीं देना है। 112 पेज के घोषणापत्र ने यह भी कहा कि आरएसएस के ‘शाख’ में भाग लेने के लिए सरकारी कर्मचारियों को अनुमति देने के लिए पहले जारी किया गया आदेश रद्द कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि आरएसएस और कांग्रेस के बीच वैचारिक मतभेद रहा है. कांग्रेस संघ पर धर्म और संप्रदाय के नाम पर समाज को बांटने का आरोप लगाती आयी है वहीं संघ कांग्रेस पर समाज को बांटने का आरोप लगाती रही है. आरएसएस को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम ने कहा, “जब उन्होंने साढ़े चार पहले चुनाव लड़े थे, तब उन्होंने विकास, नौकरी और ग्रोथ की बात की थी. वे इन तीनों में पूरी तरह से विफल रहे हैं. वे ना तो विकास, नौकरी और ना ही ग्रोथ को हासिल कर पाए हैं. वे अब अपने पुराने एजेंडे हिंदुत्व की ओर लौट चुके हैं. ऐसे में अब वे हिंदुत्व, विशाल मंदिर, भव्य मूर्तियों की बातें कर रहे हैं.”

क्या है कांग्रेस के घोषणापत्र में
चुनावों के चलते कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में राज्य के बहुचर्चित घोटाले व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) की परीक्षाओं में पिछले 10 सालों में शामिल हुए लाखों उम्मीदवारों का शुल्क वापस लौटाने का वादा किया है. इसी के साथ कांग्रेस का वादा है कि सूबे में भर्ती घोटाले के लिए कुख्यात ‘व्यापमं’ को सत्ता में आने पर कांग्रेस बंद कर देगी.