राजनीती राज्यों से वायरल

जय राम सरकार को बदनाम करने के लिए फिर झूठ का प्रोपोगंडा वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल,जाने उसकी सचाई

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही खबर की असल सचाई जानना आप सभी के लिए जरूरी है। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है जिसमें कुछ महिलाएं और छोटे बच्चे मट मैले पानी के पास बैठे हुए दिखाई दे रहे हैं और एक शख्स उन महिलाओं की वीडियो बना रहा है। एक महिला बच्चे को वो गंदा पानी पिलाती हुई उस वीडियो में दिखाई दे रही है। वीडियो देख कर साफ़ दिख रहा है वीडियो जानबूझकर बनाई गयी है ख़ैर झूठ फैलाना कुछ विरोधियो का काम होता है। लेकिन ऐसे झूठ की पोल खोलना हमारे पोर्टल का काम पहले भी रहा है और आज भी है।

उस वीडियो में दिखाया जा रहा है की वहां की जनता सिर्फ वो गंदा पानी पिने के लिए मजबूर है। असल में उसकी सच्चाई कुछ और है वो वीडियो सिर्फ सरकार को बदनाम करने के लिए चलाई जा रही है। कुछ तथाकथित लोगों द्वारा जनता को भ्रमित करने का आज कल इस तरह के भ्रामक प्रचार द्वारा प्रयास किया जा रहा है जोकि बहुत ही निंदनीय है ।

हमने इसकी जाँच कि तो पाया गया कि ऐसा कुछ भी नहीं है जिस जगह की बात इस ख़बर में बात की जा रही है वहाँ ना कोई घर है ना कोई व्यक्ति वहाँ रहता है । जनता से निवेदन है ऐसे भ्रामक प्रचार पर ध्यान ना दें एवं हमारा मीडिया से भी अनुरोध है ख़बरों की पुष्टि करने के बाद ही ज़िम्मेवारी से ख़बरों को छापें प्रशासन से भी हमारा अनुरोध है यदि ऐसी खबर कभी कहीं सही पाई जाएँ तो आप भी ऐसी समस्याओं को प्राथमिकता से हल करने का प्रयास करें ।

Image result for HP IPH LOGO

उस एरिया के IPH विभाग के SDO का साफ़ साफ़ बताना है की वो गावं उस गंदे पानी वाली जगह से बहुत दूर है। उस जगह पर लोगों के खेत हैं और गर्मियों में अपनी फसल देखने के लिए खेत में कार्य करने के लिए लोग वहां जाते हैं सोशल मीडिया पर जो गंदे पानी का खड्डा दिखाया गया है वो उसी जगह का है।

वो जगह उनके रहने की स्थाई जगह नहीं है। IPH विभाग के AXN इसके बारे में मीडिया को बता चुके हैं। पिछले जनमंच में ये मुद्दा उठाया गया था पिछड़े क्षेत्र योजना के तहत अनुमान उनके द्वारा तैयार किया गया है और अनुमोदन के लिए डीसी को प्रस्तुत किया जा चूका है। यह क्षेत्र IPH की पहले से मौजूद परियोजना से बहुत अधिक ऊंचाई पर है। उस स्थान पर कोई घर नहीं है और ना ही कोई वहां रहता है वहां सिर्फ पशु बांधने का शेड है।

विरोधियो को जय राम सरकार का आगे बढ़ना पसंद नहीं आ रहा है। जिस तरह जय राम सरकार प्रदेश और प्रदेश के लोगो के लिए कार्य कर रही है वो विरोधी हजम नहीं कर पा रहे हैं। सरकार को बदनाम करने के लिए जानबूझ कर उस जगह पर वीडियो बनाया गया और मीडिया पेपर ने बिना सचाई जाने उस खबर को छाप दिया।

Related posts

हिमाचल सरकार द्वारा किये गए प्रयासों की सराहना,अब खुद कोरेंटाइन हुए बाहर से आये लोग कर रहे हैं

Viral Bharat

प्रदेश में कोविड-19 के दृष्टिगत ‘फोर्स मैज्योर’ लागू किया गया

Viral Bharat

लॉकडाउन न लगता, तो सुंदर घर न लौटते आखिर लॉकडाउन ने 18 साल बाद मिला दिया सुंदर को परिवार के साथ

Viral Bharat