राजनीती राज्यों से

बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाला CBI की जाँच हुई तेज़ फिर हुई इन 14 लोगों से पूछताछ,जयराम सरकार में घोटालेबाजों की ख़ैर नहीं

बहुचर्चित छात्रवृति घोटाले को लेकर प्रदेश की जयराम सरकार बहुत सख्त है। सत्ता में आने के बाद जयराम सरकार ने इस बहुचर्चित घोटाले पर सीबीआई जाँच की अनुमति दी। उसके बाद से ही जांच काफी तेज़ी से आगे बढ़ती हुई नजर आ रही है। अब एक उम्मीद जग चुकी है उन बच्चों को इंसाफ की जिनकी छात्रवृति ये घोटालेबाज खा गए थे। 250 करोड़ से अधिक के छात्रवृति घोटाले में सीबीआई की पूछताछ का दौर जारी है। मंगलवार को भी जांच टीम ने ऊना में बनाए अस्थायी कैंप में विभिन्न शिक्षण संस्थानों व बैंकों के 14 कर्मचारियों से पूछताछ की।

मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार जांच एजेंसी के लगातार कसते शिकंजे से संस्थानों और बैंक कर्मियों की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। सबसे बड़ी खबर इस जाँच में ये निकल कर सामने आई है कि पूछताछ का दौर खत्म होने के बाद सीबीआई गिरफ्तारी शुरू कर सकती है। चूंकि मामले में कई राज्यों में स्थित बैंक शाखाओं और शैक्षणिक संस्थान शामिल हैं।

Image result for scholarship scam

इसलिए सीबीआई को पूछताछ में समय लग रहा है। उधर, सीबीआई की एक अन्य टीम ने शिमला स्थित कार्यालय में दस्तावेजों को खंगालना शुरू कर दिया है। सूत्रों की मानें तो जांच में जैसे-जैसे नए तथ्य सामने आ रहे हैं, उन्हें दूसरी टीमों के साथ साझा कर पूछताछ में तेजी लाई जा रही है।एक बात तय ही आने वाले वक़्त में बड़ी गिरफ्तारियां नजर आ सकती हैं।

दूसरी तरफ बागवानों से धोखाधड़ी करने के आरोपी आढ़तियों पर भी सीआईडी की सख्ती जारी है। मंगलवार को सीआईडी ने ऊपरी शिमला क्षेत्र के छह आढ़तियों को पूछताछ के लिए तलब किया।

Related posts

मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना बंदर तो दूर, अब चूहे-गिलहरी भी बरबाद नहीं कर पाएंगे फसल

Viral Bharat

ब्रेकिंग – लॉकडाउन 4.0 का ऐलान, देशभर में 31 मई तक बढ़ाई गई तालाबंदी

Viral Bharat

1984 सिख हत्याकांड पे राहुल गाँधी ने बोला सफेद झूठ….पाकिस्तानी की ISI को अप्रयत्क्ष समर्थन दे के कांग्रेस चलवा रही है खालिस्तान का प्रोपेगंडा !

Viral Bharat