राजनीती राज्यों से वायरल

लाखों के खर्च से बचेंगे मरीज प्रदेश में अब हेपेटाइटिस-सी का इलाज पीजीआई के चक्कर से छुटकारा

एक बार फिर प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश की जनता के लिए बड़ा कदम उठाया है। पहले कैंसर के मरीजों के लिए राहत लेकर जयराम सरकार आई थी फिर किडनी और दिल के मरीजों के लिए और अब हेपेटाइटिस-सी के मरीजों के लिए बड़ा कदम उठाया है जयराम सरकार ने। अब प्रदेश के मरीजों के लिए हेपेटाइटिस-सी का इलाज लेने के लिए पीजीआई के चक्कर नहीं काटने होंगे। आईजीएमसी में हेपेटाइटिस-सी का अब बेहतर इलाज मिलेगा। अस्पताल में मॉडल ट्रीटमेंट सेंटर फॉर हेपेटाइटिस-सी शुरू कर दिया गया है। यह प्रदेश का इकलौता ऐसा सेंटर शुरू हो गया है, जिसमें लीवर में हुए हेपेटाइटिस-सी का इलाज बेहतर तरीके से शुरू कर दिया गया है। अब हेपेटाइटिस-सी के मरीजों को चंडीगढ़ के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।

हेपेटाइटिस-सी PNG IMAGE के लिए इमेज परिणाम

अब इसके तहत प्रदेश के दस मरीजों को फ्री इलाज मिला है, जिसमें अब उनका स्वास्थ्य बेहतर आंका गया है। प्रदेश के मरीजों के लिए यह एक काफी अच्छी खबर है, जिसमें फ्री इलाज दिया जाना शुरू किया गया है। प्रदेश की जयराम सरकर के निर्देशों के तहत यह लाभ मरीजों को आईजीएमसी प्रशासन के माध्यम से दिया जा रहा है। प्रदेश में मरीजों के रिकार्ड पर गौर करें, तो हर वर्ष पचास हेपेटाइटिस-सी मरीज अस्पताल में इलाज करवाने आते हैं, जिसमें आठ से दस मरीजों की हालत काफी खराब रहती है। पहले प्रदेश के किसी भी अस्पताल में ट्रीटमेंट की सुविधा नहीं थी, जिससे मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

हेपेटाइटिस-सी की दवाइयां काफी महंगी हैं, जिससे गरीब तबके के मरीजों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था। अब सेंटर के खुलने से हर वर्ग के मरीजों को समय पर इलाज मिलेगा। आईजीएमसी के एमएस डा. जनक, प्रिंसीपल डा. मुकुंद और स्टोर प्रशासनिक अधिकारी डा. राहुल गुप्ता का कहना है कि मरीजों को प्रदेश से बाहर इलाज के लिए नहीं जाना पड़ेगा। यह सुविधा मरीजों को आईजीएमसी में शुरू कर दी गई है।

प्रदेश से बाहर इस ट्रीटमेंट में लाखों का खर्चा आता है, लिहाजा अब इस सेंटर के शुरू होने से प्रदेश की जनता को प्रदेश में ही लाभ मिलेगा और इलाज निःशुल्क भी मिलेगा। बताया जा रहा है कि दो विभागों के तहत यह इलाज मरीजों को मिलने वाला है। इसमें ग्रेस्ट्रोएंट्रोलॉजी-माइक्रोबायोलॉजी विभाग इसमें काम करने वाला है। हेपेटाइटिस-सी एक संक्रमित बीमारी है, जो दूषित खून या फिर दूषित सूई से फैलता है। ऐसा पहली बार है जब आईजीएमसी में हेपेटाइटिस-सी की जांच और उसका इलाज मरीजों के लिए शुरू किया गया है। यह सुविधा प्रदेश की सभी आय श्रेणियों के लिए उपलब्ध है।

Related posts

OSD शिशु धर्मा पर लगे झूठे आरोपों पर आया CM जयराम,का बड़ा बयान विरोधियों के मुहँ एक झटके में हुए बंद

Viral Bharat

भ्रष्टाचारियों पर नकेल कसने के लिए जयराम सरकार ने खोले विजिलेंस के हाथ,लिया बड़ा फैसला भ्रस्टचारी कांपे थर थर

Viral Bharat

जयराम सरकार करने जा रही है बहुत बड़ा काम केबल कार से जोड़े जाएंगे 283 गांव,लोगों को मिलेगी बड़ी राहत जाम से बचेंगे लोग

Viral Bharat