राजनीती राज्यों से

नगर पंचायत सचिव को कारण बताओ नोटिस, एसडीएम की अध्यक्षता में बनेगी जांच कमेटी लोगों में करवाई को लेकर ख़ुशी

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन तो अभी आई है उससे पहले जनमंच जैसा कार्यक्रम मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी शुरू करवा चुके हैं प्रदेश की जनता के लिए ताकि जनता की शिकायतों का निवारण तय समय पर हो। जनमंच का पूरा लाभ आज प्रदेश की जनता को मिल रहा है। अब मुख्यमंत्री हेल्पलाइन और जनमंच दो ऐसी योजनाएं सरकार की प्रदेश की जनता के लिए चल रही हैं जिसकी तारीफ करने के लिए आज खुद विरोधी भी मजबूर हैं। जयराम सरकार में कामचोरी करने वालो की खैर नहीं है। जी हाँ सरकार ने साफ़ कर रखा है की ड्यूटी में कोताही बरतने वालों की अब खैर नहीं है। ऐसा ही एक मामला अब सामने आया है जब ड्यूटी में कोताही के मामले में प्रशासन ने नगर पंचायत नादौन के सचिव को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। इस करवाई को लेकर नगर पंचायत में हड़ंकप मच गया।

प्रशासन ने नगर पंचायत सचिव से जवाब तलब किया है, जिससे नगर पंचायत कार्यालय में हड़कंप मच गया है। प्रशासन की इस कार्रवाई की क्षेत्र में काफी चर्चा है, क्योंकि नगर पंचायत कई मामलों में काफी अर्से से चर्चा में है। इसलिए प्रशासन द्वारा की जाने वाली कार्यवाही को लेकर लोगों को काफी उम्मीद थी।लोगों को लग रहा है की अब इस सरकार में उन अफसर अधिकारीयों की ख़ैर नहीं है जो अपने काम में कोताही बरतते हैं।

आपकी जानकारी के लिए हम बता दें कि बीते दिनों नादौन के सेरा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में आयोजित जनमंच में नगर पंचायत नादौन में कार्यरत मजदूर वर्ग के एक प्रतिनिधि मंडल के IPH एवं बागवानी मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर के समक्ष अपनी फरियाद की थी कि उन्हें कोर्ट के आदेशों के बावजूद एरियर की पेमेंट नहीं हो रही है।उस वक़्त सबसे बड़ी हैरानी की बात ये थी की जनमंच में सचिव सतीश ठाकुर जवाब देने के लिए मौजूद नहीं थे। ये अपने आप में बहुत बड़ी बात थी की जनमंच का आयोजन है इसकी जानकारी होने के बाद भी सचिव का उपस्थित ना होना साफ़ दिखा रहा था उनकी ड्यूटी में कोताही।

जिसका कड़ा संज्ञान लेते हुए मंत्री ने डीसी को आदेश दिए थे कि सचिव को सस्पेंड व चार्जशीट किया जाए। इस मामले को लेकर डीसी ने जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। एसडीएम ने नगर पंचायत सचिव व एक अन्य कर्मचारी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। नगर पंचायत में ही नहीं अन्य विभागों के लापरवाह अधिकारियों में भी हड़कंप मचा हुआ है। वैसे भी नगर पंचायत नादौन विकास कार्यों सहित कई मामलों में चर्चा में है। बीते दिनों एसडीएम ने नगर पंचायत की बैठक में अचानक पहुंची थीं और नगर पंचायत को विकास कार्यों आदि को लेकर खूब खरी खोटी भी सुनाई थी। उन्होंने नगर पंचायत के रिकॉर्ड अपने कब्जे में ले लिया है, कब्जे में लिए गए रिकाॅर्ड में क्या निकलता है यह तो आने वाले समय में ही पता चल पाएगा। लेकिन यह तय माना जा रहा है कि प्रशासन ने शहर के हित में उचित कार्रवाही करने का मन बना लिया है।

Related posts

37 ग्रामीण सड़क परियोजनाओं और एवं 1 पुल के निर्माण के लिए मिली स्वीकृति,जयराम सरकार में तरक्की की राह पर हिमाचल

Viral Bharat

जनमंच में एक बार फिर हुई बड़ी करवाई ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट करने के आदेश, बैंक के शाखा प्रबंधक को लगाई लताड़ लोगों ने जताई ख़ुशी

Viral Bharat

कांग्रेस के इस बिगड़ैल नेता के खिलाफ एक और FIR हुई,किया इस बार ऐसा काम गुस्से से होंगे आप भी लाल कांग्रेस के बड़े नेताओं की चुप्पी पर लोगों का गुस्सा

Viral Bharat