राजनीती, राज्यों से, वायरल

देवभूमि हिमाचल में नशा निवारण विशेष अभियान शुरू सीएम जयराम ठाकुर की अपील इस अभियान को जन आनंदोलन में बदलें

Viral Bharat / November 15, 2019

मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर जी ने आज नशा निवारण अभियान को शुरू किया,कहा कि नशे की बुराई से निपटने के लिए सामूहिक प्रयास करने की नितांत आवश्यकता है तथा नशे के दुष्प्रभावों के बारे जागरूकता लाने के लिए एक जन आनंदोलन आरम्भ किया जाना चाहिए।मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर ऑनलाइन न्यू शिमला में नशा मुक्ति केन्द्र और हिमाचल प्रदेश राज्य मनोरोग चिकित्सा प्राधिकरण की वेबसाइट का शुभारम्भ किया। उन्होंने लोगों को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक करने के लिए पोस्टर तथा शिमला जिला प्रशासन द्वारा तैयार की गई प्रचार समग्री भी जारी की। मुख्यमंत्री आज सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा रिज मैदान पर ‘नशे के विरुद्ध’ आरम्भ किए गए विशेष अभियान के अवसर पर लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। नशा निवारण और शराबबंदी का यह विशेष अभियान प्रदेश के सभी जिलों में आरम्भ किया गया।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि समाज से इस बुराई को मिटाने के लिए प्रदेश सरकार ने बहुआयामी रणनीति तैयार की है। उन्होंने कहा कि एक माह तक चलने वाला यह अभियान इस रणनीति का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि यह अभियान औपचारिकता मात्र ही नहीं है बल्कि इसके सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि सभी विभागों के बेहतर समन्वय के द्वारा इन प्रयासों को फलीभूत किया जा सकता है।

जय राम ठाकुर जी ने कहा कि लोगों को जागरूक करने में चिकित्सक अपनी अहम भूमिका सकते हैं। इसी प्रकार, अध्यापक विद्यार्थियों को जागरूक कर नशे से दूर रहने को प्रेरित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस को नशे के माफिया से निपटने के लिए प्रभावी कदम उठाने चाहिए ताकि नशा तस्करों व इससे जुड़े लोगों के जाल को तोड़ा जा सके।

आगे अपनी बात रखते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि इस बात पर अपनी प्रसन्नता व्यक्त की कि यह उनके द्वारा किए गए प्रयासों के ही परिणाम है कि नशे के विरुद्ध अभियान चलाने और कारगर नीति अपनाने के लिए सात उत्तरी राज्य एक साथ मिले। उन्होंने कहा कि इन प्रयासों से इस सामाजिक बुराई से निपटने के लिए संयुक्त रणनीति भी तैयार की तथा सूचना का आदान-प्रदान भी सम्भव हो सका। प्रदेश सरकार ने राज्य में पांच नशा मुक्ति केन्द्र खोलने का निर्णय लिया है, जिनमें पहला आज न्यू शिमला के निजी अस्पताल में स्थापित किया गया। उन्होंने कहा कि इस प्रयास से नशे के आदी लोगों को इस सामाजिक बुराई से बाहर आने में सहायता मिलेगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के पर्यटन निगमों के होटलों को भी प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को नशे से दूर रहने के लिए जागरूक किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह प्रयास हिमाचल प्रदेश को वास्तव में ‘देव भूमि’ बनाने में मील का पत्थर साबित होंगे।इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने नशा निवारण रैली को भी रवाना किया।