राजनीती राज्यों से वायरल

अटल आशीर्वाद योजना : जयराम सरकार की अटल आशीर्वाद योजना के तहत लाभ लेने वालों की संख्यां पहुँचीं हजारों में

हिमाचल प्रदेश सरकार ने अस्पताल में पैदा होने वाले नवजात शिशुओं के लिए एक नई योजना की घोषणा की हुई है.आज इस योजना का लाभ पुरे प्रदेश में मिला रहा है. इस योजना का नाम अटल योजना रखा गया है.यह योजना पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी के नाम से शुरू की गई है. पहले इस योजना का नाम मुख्यमंत्री आशीर्वाद योजना था जिसे अब बदलकर अटल आशीर्वाद योजना कर दिया गया है.हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस योजना की घोषणा की थी।

इस योजना के तहत नवजात शिशुओं को मुफ्त में बेबी किट मुहैया करवाई जा रही है.इस योजना के तहत हर साल लगभग लाखों नवजात बच्चों को इसका लाभ मिल रहा है। राज्य सरकार ने इसके लिए 15 करोड रुपए का बजट भी पास किया हुआ है। इस योजना के अंतर्गत हर नवजात शिशु को 1500 रुपए की बेबी किट मुफ्त में दी जाएगी।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करना होगा। कैबिनेट से इस योजना को मंजूरी मिलने के बाद पुरे प्रदेश में इसका लाभ लिया जा रहा है.2018-19 वर्ष के लिए ही सरकार ने इसके लिए 15 करोड़ रुपए का बजट रखा है.राज्य सरकार पहले ही इंस्टीट्यूशनल डिलीवरी होने पर माताओं को ₹700 की आर्थिक मदद प्रदान करती है.

अटल आशीर्वाद योजना

यह योजना पहली बार राज्य में नवजात बच्चों को नवरंग दुख किट देगी।स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुख्यमंत्री को योजना से जुड़े टेंडर की फाइल भेज दी गई है.योजना दोनों नवजात टॉप और बेटी को प्रदान की जाएगी।यह किताब अस्पताल के प्रबंधन द्वारा प्रदान की जाएगी।इस योजना के तहत दिए जाने वाले कीट में कुल 12 प्रकार की चीजें शामिल की गई हैं, जो बच्चों द्वारा प्रयोग की जाएंगी।

हिमाचल प्रदेश अटल आशीर्वाद योजना के अंतर्गत नवजात शिशु को, जो अस्पताल में पैदा होंगे, उन्हें 15 सो रुपए की बेबी किट मुफ्त में दी जाएगी। जैसे कि पहले बताया गया इस मिलने वाली किट में कुल 12 प्रकार की बच्चों की सामग्री होगी| किट में बच्चों के लिए टूथब्रश, नहाने का साबुन, टूथपेस्ट तथा मां के लिए वैसलीन पहले पैकेट में उपलब्ध होगी| इसके अलावा दो बेबी बनियान, एक फुल स्लीव आउटफिट, दस्ताने, एक मखमल का स्क्वेयर पीस, ऊन के मोजे, बेबी मसाज ऑयल(100 मिलीलीटर का), बेबी क्लॉथ नफीस, बेबी टॉवल, बच्चों के लिए मच्छरदानी, हाथ धोने के लिए सैनिटाइजर (100 मिलीलीटर का), एक प्लास्टिक का झुनझुना, एक कंबल दिए जाएंगे।

और वह नवजात शिशु जो सरकारी हस्पताल में जन्म लेगा उसे यह बेबी किट दी जाएगी।काफी बच्चे प्रदेश में ऐसे हैं जो जन्म लेने के समय ही पोषण के अभाव के कारण मर जाते हैं.इस योजना को सरकार द्वारा शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिए चलाया जा रहा है.सरकार पहले ही 700 रूपए की सहायता गर्भवती महिला को प्रदान कर रही है.प्रदेश में पहले ही प्रधानमंत्री द्वारा चलाई गई प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को 6000 रु की आर्थिक सहायता दी जाती है.

Related posts

‘थैंक्यू सीएम अंकल…आपने मेरी मम्मी को बचा लिया’ जानिए ये भावुक कर देने वाले शब्द क्यों 12 साल के बच्चे ने सीएम जयराम के लिए बोले

Viral Bharat

हिमाचली बेटे को US की आर्मी का सलाम, बेहतर सेवाएं देने पर नगरोटा बगवां के असीम शर्मा को मिला सम्मान

Viral Bharat

छलक आई आंखें जब CM को याद आया गुजरा जमाना, कॉलेज के दिनों को याद कर भावुक हुए मुख्यमंत्री

Viral Bharat