राजनीती राज्यों से वायरल

Success Story 1:-मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में आज हम बात करेंगे के कांगड़ा से आई शिकायत की,कैसे एक फोन से हुआ शिकायत का निवारण

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के शुरू होने से प्रदेश की जनता को बहुत राहत मिली है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी मुख्यमंत्री हेल्पलाइन को शुरू से अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बताते रहे हैं और खुद इस हेल्पलाइन पर मुख्यमंत्री जी नजर बनाये रखते हैं। वैसे तो इस पोर्टल के माध्यम से हम सरकार की हर गतिविधि हर योजना को आप तक पहुँचाने का काम करते रहे हैं जिसमें मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के माध्यम से निवारण की गयी शिकायतों की खबरें भी शामिल रही हैं। पर अब हम एक नई शुरुआत कर रहे हैं हर दिन एक Success story मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की आप सभी तक लेकर आएंगे।

ये भी पढ़े : -मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के प्रयास लाये रंग,हिमाचल की 112 ग्रामीण सड़क परियोजनाएं केंद्र से मंजूर, खर्च होंगे इतने करोड़

आज हम जिस शिकायत के बारे में आपसे बात करेंगे वो शिकायत जिला कांगड़ा से की गयी थी। शिकायतकर्ता महिला का शिकायत को लेकर कहना था की मेडिकल कॉलेज के जो कवाट्र हैं उनमे पानी की वेस्टेज होती है। शिकायत कर्ता की शिकायत को मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में कार्यरत कर्मचारी पोर्टल में दर्ज करता है और शिकायकर्ता को उनका कंप्लेंट नंबर दे देता है।

ये भी पढ़े : -जो काम बार-बार दफ्तरों के चकर काटने से नहीं होते थे,मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से एक झटके में हो रहे हैं एक ऐसी खबर एक बार फिर आपके लिए

उसके बाद शिकायत की निवारण का कार्य शुरू होता है। मामला IPH विभाग को भेजा जाता है। जिसके बाद उस विभाग की तरफ से एक टीम को उस स्थान पर जाँच के लिए भेजा जाता है। IPH विभाग द्वारा जाँच करके पाया जाता है की वो मामला PWD विभाग के पास आता है। इस वजह से तुरंत शिकायत को निवारण के लिए उस विभाग के पास भेज दिया जाता है।

पानी की वेस्टेज टेंको के खराब होने की वजह से हो रही थी। अब विभाग द्वारा उन सभी टैंको को बदल दिया गया है जो लीक हो रहे थे। जिस वजह से शिकायकर्ता की शिकायत का एक तय समय में निवारण कर दिया जाता है। जो पानी की वेस्टेज हो रही थी अब वो बंद हो चुकी है। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन किस तरह से आम जनता की शिकायतों का निवारण कर रही है ये इस खबर से भी एक बार साफ़ नजर आ रहा है। छोटी से छोटी शिकायत हो या बड़ी शिकायत हो मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में आप कर सकते हैं। फर्क सिर्फ इतना है शिकायत जटिल हो तो उसके निवारण में थोड़ा समय ज्यादा लगता है लेकिन निवारण जरूर होता है।

ये भी पढ़े : -जयराम सरकार में नशे पर एक बार फिर करारा वार,चरस तस्करी के आरोपियों की 90 लाख रुपये की संपत्तियां जब्त

शिकायकर्ता को बाद में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में कार्यकर्त कर्मचारी कॉल करते हैं और पूछते हैं की आप शिकायत के निवारण से संतुष्ट हैं। तो शिकायत कर्ता महिला का साफ़ शब्दों में बोलना था की इतनी जल्दी मेरी शिकायत पर एक्शन लिया गया है मुझे उन विभागों की तरफ से कॉल भी आये। में मुख्यमंत्री जी का धन्यवाद करती हूँ इस सेवा के लिए।

Related posts

जयराम सरकार का बड़ा कदम,लाखों बागवानों को बड़ी राहत, अब किसी भी कंपनी से ले सकेंगे कार्टन

Viral Bharat

इस हिमाचली बड़े मीडिया पोर्टल ने निराधार खबर पर मुख्यमंत्री को किया टारगेट,सचाई जानकार आप भी इनकी मूर्खता पर हँसे बिना नहीं रह पाओगे

Viral Bharat

Himachal – वुहान में इस वजह से रुका कोरोना वायरस, चीन से लौटे बायोलॉजिस्ट ने किया ये बड़ा खुलासा ये जानकारी बचा सकती है आपको कोरोना से

Viral Bharat