राजनीती राज्यों से वायरल

हिमाचल के युवाओं के रोजगार स्वरोजगार के मुद्दे पर कांग्रेस का बोलना सिर्फ दिखावा,इस बिल के दौरान कांग्रेस के वाकआउट पर सीएम भी हैरान

जयराम सरकार का बहुत बड़ा फैसला जिससे प्रदेश में युवाओं के लिए रोजगार और स्वरोजगार के अवसर होंगे पैदा। इस बिल के दौरान कांग्रेस ने किया वाकआउट कांग्रेस के इस कदम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी भी हैरान थे। आपकी जानकारी के लिए हम बता दें की जयराम ठाकुर जी एक बहुत महत्वपूर्ण बिल को लेकर जब आये तो कांग्रेस ने वाकआउट किया यानि प्रदेश के युवाओं पर जो कांग्रेस वाले बड़ी बड़ी बातें करते हैं वो महज एक दिखावा है उससे ज्यादा कुछ नहीं।

हिमाचल प्रदेश में लघु एवं मध्यम उद्योगों को राहत देते हुए सरकार ने तय किया है कि तीन साल तक उन्हें किसी तरह की शर्त नहीं रहेगी। तीन साल में यह निवेशक अपना उद्योग धंधा स्थापित कर सकते हैं और इस दौरान उन पर एनओसी की शर्त नहीं होगी। सरकार पहले इसके लिए अध्यादेश लाई थी, क्योंकि तब विधानसभा का सत्र नहीं चल रहा था, लेकिन अब शीतकालीन सत्र में सरकार ने इस पर विधेयक लाया था, जिसे शुक्रवार को सदन ने पारित कर दिया है।

jairam thakur के लिए इमेज परिणाम

सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योगों की स्थापना पर विपक्ष के वाकआउट पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी ने भी हैरानी जताई है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस महत्वपूर्ण बिल से हिमाचल में रोजगार व स्वरोजगार के द्वार खुलेंगे कांग्रेस पूरे मामले को समझे बिना राजनीतिक आधार पर काम करती रही है और आज भी कर रही है । सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योगों की स्थापना विषय से ही स्पष्ट हो रहा है इससे हिमाचल के सभी हजारों नौजवानों के लिए रोजगार व स्वरोजगार के मार्ग खुलेंगे प्रदेश के बाहर के ही नहीं हिमाचल के भी वह लोग जो निवेश करना चाहते हैं उन्हें इससे सबसे ज्यादा लाभ होगा । अपना कारोबार बिना बाधा के नियमों का पूरा करते हुए शुरू कर पाएंगे और स्वरोजगार के साथ दूसरों को भी तो रोजगार प्रदान करेंगे ।

इस विधेयक के पारित होने से यहां पर नया कानून लागू होगा। उद्योग मंत्री विक्रम ठाकुर ने दो दिन पूर्व विधेयक को सदन में पेश किया था। उन्होंने सदन को सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश की भी जानकारी दी थी। मुख्यमंत्री ने साफ किया कि यहां पर नियमों को सरल बनाकर ही निवेश होगा और सरकार इस ओर अग्रसर है।प्रदेश के युवाओं को अपने प्रदेश में ही रोजगार मिले उन्हें दूसरे राज्यों में न जाना पड़े इस पर सरकार काम कर रही है इन्वेस्टर्स मीट इसी का सबसे बड़ा हिस्सा है जब बड़ी बड़ी कंपनियां प्रदेश में खुलेंगी तो प्रदेश की जनता को ही पहले रोजगार मिलेगा। क्या जानते है दूसरे सभी राज्यों में कैसे निवेश भारी मात्रा में आता है ? कैसे बड़ी बड़ी कंपनिया वहाँ लगती है सिर्फ इसी वजह से क्योंकि वहाँ की सरकारें उन्हें रियातें देती हैं। यही नहीं सरकार के इस कदम से हिमाचल के युवा जो खुद के छोटे छोटे उधोग लगाना चाहते हैं वो भी अब आसानी से लगा पाएंगे।

इसके लिए सरकार ने हिमाचल प्र्रदेश सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (स्थापना और प्रचालन का सरलीकरण) विधेयक पेश किया था। इसमें कहा गया है कि इस तरह के निवेशकों को निरीक्षण से छूट देने की जरूरत है। बता दें कि हिमाचल प्रदेश में बड़े पैमाने पर निवेश की संभावनाओं को देखकर सरकार ने इन्वेस्टर मीट करवाई थी जिसके ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 27 दिसंबर को की जा रही है। यहां पर लघु एवं मध्यम उद्यमों में निवेश ज्यादा संभावित है, जिसके चलते सरकार ने इन निवेशकों को तीन साल तक एनओसी से मुक्ति दी है।

Related posts

कार्यक्रम में नेता बोले में कांग्रेस का हूँ लेकिन मुख्यमंत्री जय राम का फैन हूँ ,उनके अच्छे कामों का मैं समर्थन करता हूं फिर..

Viral Bharat

जय राम सरकार तक अपनी समस्या पहुँचाने का सबसे आसान तरीका जनमंच में हुआ अब बदलाव, जानें कब-कहां होगा कार्यक्रम

Viral Bharat

योगी सरकार को बदनाम करने के लिए फैलाया गया झूठ,सच जानकर आप भी कहेंगे – “शर्म करो विरोधियों “

Viral Bharat