राजनीती राज्यों से वायरल

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की दो टूक, लापरवाही बरतने वाले ठेकेदारों व अफसरों पर कार्रवाई निर्माण में गुणवत्ता से समझौता नहीं

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी ने बुधवार को ‘हिम विकास समीक्षा’ बैठक की अध्यक्षता करते हुए अधिकारियों को सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाने के निर्देश दिए, ताकि निर्धारित लक्ष्यों को समयबद्ध तरीके से हासिल किया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी विभागों को कम से कम एक नई पहल के साथ आगे आना चाहिए तथा इसका प्रभावी कार्यान्वयन भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए। इसके लिए अधिकारियों को रचनात्मक दृष्टिकोण के साथ पहल करनी चाहिए।

jairam thakur के लिए इमेज परिणाम

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकासात्मक परियोजनाओं की समीक्षा का उद्देश्य यह है कि इन परियोजनाओं को गति प्रदान की जाए तथा योजनाओं के लाभ समयबद्ध तरीके से प्रदेश की जनता को प्रदान किए जाएं। उन्होंने कहा कि राज्य के 21 विभागों के लिए 103 मुख्य निष्पादन संकेतक निर्धारित किए गए हैं। लोक निर्माण विभाग को नई परियोजनाओं को लागू करने में सक्रिय दृष्टिकोण अपनाना चाहिए, जो अन्य राज्यों के लिए बैंचमार्क बन सके। उन्होंने एफआरए और एफसीए के मामलों में तेजी लाने पर बल दिया, ताकि विकासात्मक परियोजनाएं वन स्वीकृतियों के कारण प्रभावित न हो।

उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता में कोई भी समझौता नहीं किया जाएगा तथा इसमें कोताही करने पर ठेकेदारों या अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सिंचाई की सुविधा किसानों को न केवल नकदी फसलों की खेती के लिए प्रेरित करेगी, बल्कि अगले दो वर्षों में कृषि आय को दोगुना करने में भी सहायक होगी। उन्होंने कमांद क्षेत्र के विकास और पानी की कमी वाले क्षेत्रों में हैंडपंप लागने पर जोर दिया। सीएम ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में निजी निवेशकों को आकर्षित करने के लिए एक हजार करोड़ का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, जिसके मुकाबले में 1760 करोड़ रुपए के निवेश के लिए निजी निवेशक आकर्षित हुए हैं।

छात्रों को वर्दी, बैग और लैपटॉप देने में देरी होने पर मुख्यमंत्री ने अपनी नाराजगी जताते हुए शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि अगले शिक्षा सत्र के दौरान छात्रों को वर्दी, बैग, किताबें और लैपटॉप इत्यादि समय पर मिल सकें। मुख्य सचिव डा. श्रीकांत बाल्दी ने कहा कि राज्य सरकार की सभी नीतियों और कल्याणकारी योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू किया जाएगा। इस मौके पर अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त अनिल खाची ने भी अपने विचार रखे।

50 में से 40 हजार किसान कर रहे प्राकृतिक खेती

मुख्यमंत्री ने कहा कि लगभग 50 हजार किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए प्रशिक्षित किया गया है और लगभग 40 हजार किसानों ने वास्तविक रूप में प्राकृतिक खेती करना आरंभ कर दिया है। उन्होंने कहा कि सभी बेसहारा पशुओं को अभ्यारण्यों में पहुंचाया जाएगा।

मजबूत कदम

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम देश की एकता और अखंडता को मजबूत करने की ओर कदम है। उन्होंने कहा कि भाजपा राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए प्रतिबद्ध है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती ने भी अधिनियम पर अपनी बात रखी।

NEWS SOURCE

Related posts

जयराम सरकार का बड़ा फैसला राज्य के 11 जिलों में स्थापित करेगी गौ अभयारण्य/गौसदन

Viral Bharat

चीन विवाद के चलते प्रदेश में हुई हाई लेवल मीटिंग सीमांत इलाकों की सुरक्षा पर मंथन

Viral Bharat

मुख्यमंत्री स्टार्टअप योजना से मिल रहा उद्यमियों को बढ़ावा,मुख्य उद्देश्य रोजगार ढूंढने के बजाय रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए प्रेरित करना

Viral Bharat