राजनीती राज्यों से वायरल

युवाओ के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने देगी जयराम सरकार,फर्जी तरीके से भर्ती हुए नौ पुलिस कर्मचारियों पर एफआईआर

ये है मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी की ईमानदार छवि का कमाल। जो आज से पहले किसी सरकार में नहीं हुआ इस सरकार में हुआ पहले सालों से चले आ रहे फर्जीवाड़े को पकड़ा और अब कड़ी करवाई। पुलिस भर्ती लिखित परीक्षा के फर्जीवाड़े के मुख्य आरोपी बिक्रम चौधरी का सहारा लेकर फर्जी तरीके से भर्ती हुए 9 पुलिस कर्मियों पर एफआईआर दर्ज की गई। पालमपुर, धर्मशाला और भवारना थाने में उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया।

बिक्रम ने 2012 में एक, 2015 में 2 और 2017 में हुई पुलिस भर्ती लिखित परीक्षा में 6 जवानों को हाईटेक नकल और दूसरे व्यक्ति से पेपर दिलाकर पास करवाया था।

एसपी के आदेशों के बाद तीनों पुलिस थानों में सुशील निवासी लुधियाड़ गांव उपमंडल जवाली, विनोद कुमार निवासी फारियां तहसील जवाली, संदीप सपहिया निवासी सरोला तहसील जवाली, रिक्की चौधरी गांव सियाल तहसील फतेहपुर, संपत गांव सियाल तहसील फतेहपुर, रवि गांव लुधियाड़ तहसील जवाली, मनजीत सिंह गांव लुधियाड़ तहसील जवाली, मुकेश गांव लुधियाड़ तहसील जवाली, अमरजीत गांव फारियां तहसील जवाली पर धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज हुई है।

एसएसपी विमुक्त रंजन ने एफआईआर दर्ज करने की पुष्टि की है। इन पुलिस कर्मियों का 2012, 2015 और 2017 में धर्मशाला, भवारना, पालमपुर पुलिस थानों के अंतर्गत आने वाले इलाकों में बने परीक्षा केंद्रों में पेपर पास करवाया गया था। इसलिए इन्हीं थानों में एफआईआर दर्ज की गई है। वर्तमान में यह पुलिस कर्मी अलग-अलग इलाकों में पुलिस विभाग में सेवाएं दे रहे हैं।

news source

Related posts

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज बागाचनोगी में की कई घोषणाएं,खुलेगी उप-तहसील

Viral Bharat

एक बार फिर से आमिर खान ने अपनी मुग़लिया सोच का सबूत दिया

Viral Bharat

पंचायत में भ्रष्टाचार की शिकायतों का 15 दिन में होगा निपटारा, सचिवों के भी भरे जायेंगे इतने पद

Viral Bharat