धर्म अध्यात्म

जानिए किन लोगो के लिए बहुत खास रहेगी महा शिवरात्रि मिलेगा लाभ

पुराणों और हिंदू पंचांग के अनुसार महाशिवरात्रि के पर्व को बेहद खास माना गया है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार, फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि का उत्सव मनाया जाता है. इस दिन शिवलिंग के रुद्राभिषेक का खास महत्व होता है. इस साल की शिवरात्रि को बेहद खास माना जा रहा है क्योंकि इस बार शिवरात्रि पर 117 साल बाद शनि और शुक्र का दुर्लभ योग बन रहा है. ऐसे में ज्योतिर्विद भूषण कौशल से जानते हैं कि इस बार की महाशिवरात्रि किन लोगों के लिए रहेगी बेहद ही खास.

इस बार की महाशिवरात्रि उन लोगों के लिए बहुत लाभकारी है जिन लोगों का अब तक विवाह नहीं हुआ है और जो लोग लव मैरिज करना चाहते हैं. इसके अलावा जिन पति-पत्नी में अक्सर लड़ाई-झगड़े होते हैं, उनकी लड़ाई बंद कराने में ये महाशिवरात्रि बहुत उपयोगी है.

इस बार महाशिवरात्रि का त्योहार शुक्रवार के दिन 21 फरवरी को मनाया जा रहा है. इस दिन श्रवण नक्षत्र पड़ेगा. श्रवण नक्षत्र चंद्रमा का नक्षत्र है और चंद्रमा मकर राशि में शनि के साथ होगा. शनि और चंद्रमा जब साथ होते हैं तो विषयोग को काटने वाले उपाय किए जाते हैं.

शुक्र प्यार का कारक ग्रह है और इस दिन चंद्रमा का नक्षत्र है. इसलिए इस शिवरात्रि को जो लोग शंकर भगवान के लिए व्रत रखेंगे और पूरे विधि-विधान से शंकर जी के साथ मां पार्वती की पूजा करेंगे उनके शीघ्र विवाह का योग बन जाएगा.

महाशिवरात्रि के दिन सफेद वस्त्र धारण कर शिवजी की पूजा-पाठ करें. शिवजी पर दूध, चावल, जल और बेलपत्र चढ़ाएं और शिवजी को हल्दी का तिलक लगाएं.

जो लोग बिना किसी व्यवधान के लव मैरिज करना चाहते हैं उन्हें महाशिवरात्रि के दिन सुबह जल में गुलाबजल डाल कर स्नान करें, चंदन का तिलक लगाएं. इस दिन गुलाबी वस्त्र धारण कर क्रिस्टल की माला से ऊं नम: शिवाय का जाप करना है.

महाशिवरात्रि के पूरे दिन पूजा-पाठ होगी. इस दिन शिवजी पर गुलाब का फूल या गुलाब की पंखुड़ियां जरूर चढ़ाएं. आपके लव मैरिज का योग बन जाएगा.

जिनके वैवाहिक जीवन में जहर घुला हुआ है और उन्हें बहुत कष्ट है तो वो लोग दूध, जल, शहद मिलाकर शिवजी का अभिषेक करें. शिवजी आपके वैवाहिक जीवन में विष का पान करेंगे. शिवजी को सफेद बताशे चढ़ाने से वैवाहिक जीवन में शांति आएगी.

महाशिवरात्रि के अगले दिन शनिवार को व्रत खोलने के बाद पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं और शनिदेव की पूजा-पाठ करें. शनि मंत्र का जाप करें और उन पर बेलपत्र की माला चढ़ाएं. शनिदेव के गुरु शिवजी हैं इसलिए शिवरात्रि के अगले दिन शनि की पूजा करने से जीवन में सारे क्लेश खत्म हो जाएंगे.

शनिवार के दिन शनिदेव के सामने तिल के तेल का दिया जलाएं, लड्डू का भोग लगाएं, लगातार 8 शनिवार ऐसा करने से वैवाहिक जीवन की सारी समस्याएं दूर हो जाएंगीं.

इस बार महाशिवरात्रि के दिन बनने वाला अद्भुत संयोग अविवाहितों से लेकर विवाहितों तक के लिए बेहद खास रहने वाला है. साथी के साथ आपके लड़ाई-झगड़े कम हो जाएंगें.

सबसे बड़ी बात है कि महाशिवरात्रि के दिन व्रत करने से धन का आगमन भी होता है. महिलाएं इस दिन व्रत रखती हैं तो इससे उनके पति की उन्नति होगी. शुक्रवार लक्ष्मी का दिन है इसलिए महाशिवरात्रि का व्रत रखकर शाम में लक्ष्मी जी की पूजा जरूर करें.

लक्ष्मी जी को खीर का भोग लगाकर प्रसाद के तौर पर कन्याओं को बांटें. इससे घर में धन आगमन का बहुत अच्छा योग बनेगा और शिवजी के साथ-साथ लक्ष्मी मां की भी कृपा बनी रहेगी.

Related posts

महाशिवरात्रि को भूलकर भी ना करें ऐसा, भगवान महादेव हो सकते हैं नाराज

Viral Bharat

विडियो : इस्लाम में प्रार्थना नहीं, सिर्फ फतवे हैं ..मुस्लिम युवक ने तंग आ के अपनाया हिन्दू धर्म !

Viral Bharat

ट्रिपल तलाक अवैध, करता है मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का हनन – इलाहबाद हाई कोर्ट !!

Viral Bharat