राजनीती राज्यों से वायरल

जयराम सरकार की हिमकेयर योजना से मदद पाकर इस परिवार को हिम्मत आई और अब लड़ी जा रही है ‘कैंसर’ से लड़ाई जताया मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का आभार

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा प्रदेश की जनता के लिए शुरू की गयी हिमकेयर योजना से हजारों जरूरतमंद मरीज लाभ उठा चुके हैं। आज उसी कड़ी में हम एक मरीज की बात यहां आपसे करने जा रहे हैं। उस मरीज ने कैंसर जैसी भयंकर रोग से हिमकेयर योजना की वजह से लड़ाई लड़ी और जीती भी आज वो व्यक्ति जयराम सरकार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का आभार करते नहीं थक रहा।

इस कल्याणकारी हिमकेयर योजना के लिए कोप्टू के कलमू राम ने जताया है सरकार का आभार। घातक कैंसर का नाम सुनते ही परिवार डर गया था, ईलाज की चिंता सताने लगी थी। इसी चिंता में पूरा परिवार डूबा हुआ था, कई बार तो जिंदगी की उम्मीद ही छोड़ दी थी लेकिन जयराम सरकार की हिमकेयर योजना इस पुरे परिवार के लिए फरिश्ता बनकर आई,इस हिमकेयर योजना से जयराम सरकार ने 5 लाख तक मुफ्त इलाज का वादा किया और अब इस योजना से मुफ्त में इलाज करने के बाद कम से कम जिंदगी की उम्मीद ये मरीज करने लगा है।

कलमू राम को कुछ समय पहले घातक कैंसर ने जकड़ लिया था। उनका कहना है कि यदि सरकार ने 5 साल तक मुफ्त इलाज की योजना न चलाई होती तो शायद ही इस रोग से लड़ पाते। वह गरीब परिवार से संबंध रखते हैं, उनका एक बेटा है और आय के कोई खास साधन नहीं है। ऐसे में प्रदेश सरकार की हिमकेयर योजना ने उनके जीवन में वरदान बनकर आई। कलमू राम न कहा कि वह कई बार योजना के तहत अपने रोग का इलाज करवा चुके हैं। यदि उन्हें अपनी जेब से ईलाज पर खर्च करना पड़ता तो शायद यह उनके लिए संभव नहीं था और वह जिंदगी की जंग हार जाते। ऐसे में हिमकेयर योजना ने उन्हें नई उम्मीद दी।

जानिए क्या है हिम केयर योजना ?

केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना से हिमाचल के 22 लाख लोग लाभ में हैं लेकिन इस आयुष्मान योजना में न आने वाले परिवारों के लिए प्रदेश की जयराम सरकार ने हिमकेयर योजना पेश की है। इसके लिए लोगों को लोकमित्र केंद्र में जाकर कार्ड बनाना होता है। इसके लिए अलग अलग वर्गों के लिए अलग अलग फीस निर्धारित की गई है। बीपीएल, योजना में प्रीमियम श्रेणी के हिसाब से रहेगा। गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले बीपीएल परिवार, रेहड़ी फड़ी तथा मनरेगा कामगारों के लिए किसी तरह का प्रीमियम नहीं देना पड़ेगा, जबकि 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगों, 70 वर्ष से अधिक आयु या वरिष्ठ नागरिकों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, आउटसोर्स कर्मचारी, मिड-डे मील वर्कर्स, अंशकालिक कर्मचारी, दिहाड़ीदार, आशा वर्कर्स, अनुबंध कर्मचारी वर्ग के लिए 365 रुपये का प्रीमियम रहेगा। अन्य लोगों के लिए 1 हजार रुपए की राशि कार्ड बनाने के लिए देनी होती है।

सरकार की ओर से योजना पेश करने के बाद इसमें लाखों परिवारों को पंजीकृत किया गया लेकिन कुछेक परिवार किन्हीं कारणों से पंजीकृत नहीं हो पाए। जनहितैषी सरकार ने मामले पर गंभीरता दिखाते हुए लोगों को एक बार इस योजना में पंजीकृत होने का मौका दिया है। 31 मार्च 2020 तक लोग अपने परिवार के पांच सदस्यों को इस योजना के तहत पंजीकृत करवाकर हिमकेयर कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा जिन लोगों को कार्ड पहले से बन चुके हैं वो भी 31 मार्च तक इन कार्ड को रिन्यू कर सकते हैं।चयनित परिवारों को प्रति बर्ष 5 लाख रुपये तक निशुल्क इलाज का प्राबधान है।अब तक हिमकेयर योजना से हजारो परिवारों को लाभ मिल चूका है।

Related posts

Breaking News – पुरे हिमाचल में हुआ लॉकडाउन,जानिए कब तक रहेगा और क्या करना है आपको

Viral Bharat

राज्य पर्यावरण एवं संरक्षण और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की बैठक में नई औद्योगिक इकाइयों में प्रदूषण नियंत्रण के मापदण्डों को लेकर मुख्यमंत्री ने कही बड़ी बात

Viral Bharat

Himachal News – कोरोना वायरस से जुड़ी कोई भी Fake News(झूठी खबर),दिखें तो करें सिर्फ ये काम

Viral Bharat