राजनीती राज्यों से

यूपी में योगी है तो मुमकिन है आज़म खान के उड़ गए तोते हो गयी बड़ी करवाई थर-थर कांपे समाजवादी

यूपी में भ्रष्टाचारियों की ख़ैर नहीं चाहये फिर अफसर हो या फिर नेता। योगी ने आज़म खान पर पहले करवाई करके उस जमीन को उसके हकदारों को दिलवाया था जो जमीन उसने हडप रखी थी और अब कोर्ट से समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां के साथ पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला को कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया है। सभी को 2 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

इससे पहले बुधवार को आजम खां के साथ पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला ने कोर्ट में सरेंडर किया था। आजम खां ने एडीजे 6 की कोर्ट में जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी, लेकिन कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी। जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर तीनों को न्यायिक हिरासत में ले लिया गया।

ये भी पढ़े – हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर की दो टूक भारत में रहना होगा ‘भारत माता की जय’ कहना होगा

आपको बता दें कि आजम खां ने 20 मामलों में जमानत याचिका दायर की थी। कई मामले में तो जमानत मंजूर हो गई है। लेकिन बेटे अब्दुल्ला आजम के फर्जी प्रमाण पत्र और दो पासपोर्ट के मामले में धारा 420 के तहत दर्ज मामले में जमानत याचिका खारिज की गई है। अब उन्हें जमानत के लिए हाईकोर्ट जाना होगा।

एसपी रामपुर ने कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका जताई है। कहा आजम को रामपुर जेल की जगह किसी अन्य जिले की जेल में रखा जाए। गौरतलब है कि कुर्की की मुनादी होने के बावजूद कोर्ट में पेश न होने पर अदालत ने सपा सांसद आजम खां, उनकी पत्नी व विधायक तजीन फात्मा और पुत्र अब्दुल्ला आजम की संपत्ति कुर्क करने के आदेश दिए थे। कोर्ट ने सोमवार को तीनों की अग्रिम जमानत की याचिका भी खारिज कर दी थी।

ये भी पढ़े – दर्दनाक : दिल्ली हिंसा के दौरान जब अपनी दुकान में बैठा था 19 साल का विवेक, दंगाइयों ने सिर में ड्रिल मशीन से कर दी छेद

अब्दुल्ला आजम खां के जन्म के दो प्रमाणपत्र होने के मामले में भाजपा लघु उद्योग प्रकोष्ठ के क्षेत्रीय संयोजक आकाश सक्सेना ने 3 जनवरी, 2019 को आजम खां, फात्मा और अब्दुल्ला के खिलाफ गंज थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। अप्रैल में पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की थी।

इसकी सुनवाई एडीजे-6 धीरेंद्र कुमार कोर्ट में चल रही है। सुनवाई के दौरान लगातार गैरहाजिर रहने पर कोर्ट ने तीनों के खिलाफ पहले समन, फिर जमानती वारंट और बाद में गैरजमानती वारंट जारी करने के आदेश दिए थे। इसके बाद भी जब तीनों कोर्ट नहीं पहुंचे तो उनके खिलाफ धारा 82 के तहत गंज पुलिस ने 9 जनवरी को ढोल बजवा कर मुनादी कराई। इसके बावजूद आजम परिवार कोर्ट नहीं पहुंचा। मंगलवार को इस मामले में सुनवाई के बाद कोर्ट ने कुर्की के आदेश दिए। तीनों के खिलाफ पहले से गैरजमानती वारंट के आदेश को कोर्ट ने बरकरार रखा है।

ये भी पढ़े -भ्रष्टाचार पर ऐक्शन में मुख्यमंत्री योगी, 28 दिन में 40 अफसर नपे भ्रस्टाचारियों में मचा हाहाकार

मुनादी के बाद भी हाजिर न होने पर कोर्ट ने सांसद आजम, पत्नी डॉ. तजीन फात्मा और पुत्र अब्दुल्ला आजम की संपत्ति कुर्क करने के आदेश दिए हैं। मामला अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाणपत्र होने का है। – राम औतार सिंह सैनी, सहायक शासकीय अधिवक्ता

Related posts

जानिए कब होगी फर्जीवाड़े के चलते रद्द की गयी कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा दुवारा केंद्रों पर मिलेंगे एडमिट कार्ड

Viral Bharat

मोदी ने चीन सीमा पर जवानों को मिठाई खिलाकर मनाई दीपावली,कई आये कई गए लेकिन जवानो के साथ दिवाली मनाने वाले मोदी पहले हैं

Viral Bharat

CM जय राम की बार-बार दिल्ली यात्रा पर तंज कसने वाली कांग्रेस पर,मुख्यमंत्री का बड़ा बयान किए झटके में सबके मुहं बंद

Viral Bharat