राजनीती राज्यों से वायरल

अगर आप चाहते हैं हिमाचल में ना हो बिजली महंगी तो 7 मार्च से पहले उठाये ये कदम

हिमाचल में बिजली महंगी होने की संभावना बढ़ गई है। राज्य बिजली बोर्ड ने विद्युत नियामक आयोग से बिजली दरों में 8.73 फीसदी की बढ़ोतरी मांगी है। 487 करोड़ के राजस्व घाटे का हवाला देते हुए वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 6000 करोड़ के वार्षिक राजस्व की जरूरत बताई गई है। बीते साल के मुकाबले इस बार बोर्ड ने 882 करोड़ की अधिक मांग की है। बोर्ड की मांगों को आयोग पूरा करता है तो प्रदेश के लाखों उपभोक्ताओं को अप्रैल से झटका लग सकता है।

लेकिन अगर प्रदेश की जनता चाहये तो ये बिजली महंगी होने से रुक सकती है। जी हाँ ये सच है बिजली बोर्ड चाहता है बिजली थोड़ी महंगी की जाए लेकिन साथ ही बिजली बोर्ड ने जनता की रॉय भी इस पर मांगी है। अगर प्रदेश की जनता चाहती है बिजली महंगी ना हो तो निचे दी गयी ईमेल आईडी पर आप मेल करके अपना विरोध दर्ज करवा सकते हैं।

बिजली दरों में बढ़ोतरी नहीं चाहते हैं तो सात मार्च तक दो सुझाव
नई बिजली दरों में आप बढ़ोतरी नहीं चाहते हैं तो सात मार्च तक अपने सुझाव और आपत्तियां दर्ज करवा सकते हैं। राज्य विद्युत नियामक आयोग साल 2020-21 के लिए बिजली दरें तय करने से पहले जनता की राय भी लेगा। इसी कड़ी में 26 मार्च को आयोग के कसुम्पटी स्थित कार्यालय में जन सुनवाई होगी। सुझाव-आपत्तियों का बिजली बोर्ड 18 मार्च तक लोगों को जवाब भेजेगा। बोर्ड के जवाब से असंतुष्ट लोग 24 मार्च तक दोबारा बात रख सकेंगे।

यहां दे सकते हैं सुझाव
– सचिव राज्य विद्युत नियामक आयोग के एसडीए कांप्लेक्स कसुम्पटी कार्यालय।
– ई मेल आईडी : [email protected] या [email protected] या [email protected]

news source

Related posts

मोदी सरकार की एक और महत्वपूर्ण योजना देश की आम जनता के लिए,जो कांग्रेस ५० सालों में नहीं कर पाई मोदी सरकार ४ साल में कर रही है

Viral Bharat

प्रधानमंत्री को गले लगाने के बाद राहुल का आँख मारना लोकतंत्र का शर्मनाक मज़ाक !

Viral Bharat

Himachal News – हिमाचल में एक ही दिन में दो हजार लोग किए क्वारंटीन,जो जहां है वहीं रहे इसमें ही सबका भला है

Viral Bharat