राजनीती राज्यों से

Himachal News – कोरोना वायरस पर जयराम सरकार का बड़ा फैसला, राज्य में सैलानियों के प्रवेश पर रोक

पड़ोसी राज्यों में कोरोना वायरस के सामने आए मामलों को देखते हुए हिमाचल सरकार ने गुरुवार को बड़ा फैसला लिया है। हिमाचल में कोरोना वायरस की महामारी से बचने के लिए सरकार, प्रशासन, देव समाज और संस्थाओं ने बड़े कदम उठाए हैं। सरकार ने दूसरे राज्यों और विदेशों से आने वाले पर्यटकों के हिमाचल में प्रवेश पर पूरी तरह रोक लगा दी है। राज्य पर्यटन विकास निगम ने शिमला-दिल्ली और मनाली-दिल्ली रूट पर चलने वाली वोल्वो बस सेवा को तत्काल बंद कर दिया है।

निगम के प्रबंध निदेशक ने बताया कि आगामी आदेश जारी होने तक यह बस सेवा बंद रहेगी। पंजाब से आने वाली और यहां से जाने वाली गाड़ियां भी निगम ने बंद कर दी हैं। निगम की सभी संपत्तियों की रोजाना विशेष सफाई करने के निर्देश दिए हैं। किन्नौर जिले के सभी होटल और रेस्तरां शुक्रवार से बंद हो जाएंगे, जबकि मनाली में 23-31 मार्च तक के लिए यह कदम उठाया जाएगा। होटल एसोसिएशन मनाली सभी बुकिंग रद्द कर दी हैं।

इसके अलावा मनाली की टैक्सी यूनियन, व्यापार मंडल, वोल्वो एसोसिएशन समेत पर्यटन से जुड़ी संस्थाओं ने सभी गतिविधियों को विराम लगा दिया है। गुरुवार को एसडीएम मनाली रमन घरसंगी की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया है। कांगड़ा की सोभा सिंह आर्ट गैलरी और संग्रहालय बंद कर दिया है। मनाली का वशिष्ठ मंदिर और गर्म पानी के कुंड में नहाने पर रोक लगा दी गई है। स्टेट ओपन स्कूल और कृषि विवि पालमपुर ने सभी मिड-समेस्टर परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। विवि के कुलपति प्रो. अशोक सरियाल ने यह आदेश जारी किए हैं।

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कोरोना वायरस को लेकर प्रदेशवासियों से एक अपील की है।आप भी जानिए 👇👇

Posted by JaiRam Sarkar Report Card on Thursday, March 19, 2020

स्नातकोतर स्तर के सभी छात्रों के थिसिज से संबधित मौखिक परीक्षाएं भी स्थगित कर दी हैं। कुलपति ने कहा है कि जिन लोगों में फ्लू आदि के लक्षण हैं, वे छुट्टी लेकर इलाज कराएं। एसडीएम ज्वालामुखी और नगरोटा बगवां ने लोगों से अपील की कि बहुत जरूरी काम हो तो ही ऑफिस आएं। उधर कुल्लू में शुक्रवार को नमाज अता नहीं होगी। मिनी सचिवालय ज्वालामुखी में सरकार के आगामी आदेश तक सभी कार्य बंद कर दिए हैं। चाइल्ड लाइन कांगड़ा ने सभी गतिविधियां रद्द कर दी हैं।

वहीं, प्रदेश सरकार ने हिमाचल में साधारण बीमारी से ग्रसित मरीजों को अस्पताल में उपचार कराने के लिए न आने की बात कही है। इन्हें 14 दिन तक अपने घरों में ही रहने को कहा गया है। गंभीर रोगियों को ही उपचार के लिए अस्पताल आने को कहा है। साधारण बीमारी में सर्दी, खांसी जुकाम आदि शामिल है। प्रदेश सरकार ने अस्पतालों में भीड़ में एकत्र न होने के निर्देश दिए है। अस्पतालों में सैनेटाइजर की व्यवस्था करने को कहा गया है।

इसके अलावा शौचालय में सफाई की व्यवस्था को दुरुस्त करने के साथ साथ साबुन और पानी की नियमित सप्लाई होने के निर्देश दिए हैं। लोगों को 15 से 20 मिनट बाद हाथ साफ करने को कहा गया है। इसके अलावा सैनेटाइजर का नियमित इस्तेमाल करने की सलाह दी है। सरकार ने लोगों से अपील की है कि वह अपने हाथ गर्दन से ऊपर ले जाने से परहेज करे। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने कहा कि बीमारियों से बचने के लिए सावधानी बरतने की जरूरत है। एहतियात बरतने से ही बीमारी आसपास नहीं भटकेगी।

Related posts

मुख्यमंत्री ने मंत्री-विधायकों को ट्रांसफर के बजाय विकास पर फोकस करने के दिए संकेत,300 फाइलें की वापिस

Viral Bharat

मीडिया के ऊल जलूल सवालों पे खीझते बॉलीवुड के स्टार्स – देखें विडियो !

Viral Bharat

योगी आदित्यनाथ …उत्तर प्रदेश में आ गया हिंदुत्व का शेर !!!

Viral Bharat