राजनीती राज्यों से

Breaking – सरकारी और इन निजी वाहनों की आवाजाही पर कोई पाबंदी नहीं,साथ ही जानिए किन सरकारी विभागों को है तीन दिन की छुट्टी

अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने आज यहां बताया कि हिमाचल प्रदेश में लाॅक डाउन के संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आदेशों के पैरा-1 और पैरा-5 में आंशिक परिवर्तन किए गए हैं। उन्होंने बताया कि सरकारी और हायर किए गए वाहनों की आवाजाही पर कोई पाबंदी नहीं है।

उन्होंने बताया कि सरकारी कार्यालयों के लिए आदेश संख्या (एपी-बी)बी(15)-19/2020 दिनांक 21 मार्च, 2020 को जारी आदेशों को भी आंशिक रूप से दिनांक 23 मार्च, 2020 को परिवर्तित किया गया है। उन्होंने कहा कि कर्मचारी घर से अपने कार्यालय अथवा कार्य स्थल पर आने के लिए अपने निजी वाहनों का उपयोग कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि आपातकालीन सेवाओं में राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र और जिला आपातकालीन संचालन केंद्रों द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाएं भी शामिल होंगी।

उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न विकास खण्डों में जहां-जहां तकनीकी सहायकों के पद रिक्त हैं और आवेदन करने की प्रक्रिया चल रही हैं, उन सभी विकास खण्डों में अब आवेदन की तिथि को 30 अप्रैल, 2020 तक बढ़ा दिया गया है।

जरूरी सुचना –
जो विभाग कॉलम 5 में दिखाए गए हैं उन्हें छोड़कर सभी सरकारी कर्मचारियों को भी 24 मार्च से लेकर तीन दिन की छुट्टी दी गयी है .कोरोना के प्रकोप को कम करने के उद्देश्य से हिमाचल स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर जयराम सरकार ने मंगलवार से तीन दिन यानी 26 मार्च तक प्रदेश के सरकारी कार्यालय बंद रखने का एलान किया है। इस दौरान सिर्फ इमरजेंसी सेवा वाले कार्यालय और कर्मचारी अपनी सेवाएं देंगे (कॉलम 5 )। यह भी निर्देश हैं कि कर्मचारी अपना स्टेशन न छोड़ें। 

सरकार ने सभी नियंत्रण अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे जरूरत के अनुसार रोटेशन पर कर्मचारियाें को दफ्तर बुलाएं। रोटेशन के दौरान छुट्टी पर रहने वाले कर्मियों का वेतन नहीं काटा जाएगा। इस संबंध में कार्मिक विभाग ने एक आदेश जारी कर दिया है। सरकार के इस आदेश के बाद दो लाख से ज्यादा सरकारी कर्मचारियों के अलावा करीब पांच लाख दैनिक भोगी, पार्टटाइम, अनुबंध और आउटसोर्स कर्मियों को लाभ मिलेगा।

 

कॉलम 5 में आने वाले विभाग जिनकी आवश्यकता इस समय है और इन विभागों को छुट्टी नहीं है –

 

लेकिन कॉलम 5 में आने वाले इन विभागों के कर्मचारियों के लिए रोटेशन लागू है।हिमाचल सरकार ने प्रदेश के लाखों नियमित तृतीय-चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों, दैनिक भोगियों, पार्टटाइम, अनुबंध और आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए बड़ा फैसला लिया है। कोरोना के प्रकोप को देखते हुए सरकार ने सभी नियंत्रण अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे जरूरत के अनुसार रोटेशन पर कर्मचारियों को दफ्तर बुलाएं। रोटेशन के दौरान छुट्टी पर रहने वाले कर्मियों का वेतन नहीं काटा जाएगा।

इस संबंध में कार्मिक विभाग ने एक आदेश जारी कर दिया है। आदेश में स्पष्ट है कि लोगों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए दफ्तर आने वाले कर्मचारियों की टाइमिंग में भी जरूरत के अनुसार बदलाव होगा। सरकार के इस आदेश के बाद दो लाख से ज्यादा सरकारी कर्मचारियों के अलावा करीब पांच लाख दैनिक भोगी, पार्टटाइम, अनुबंध और आउटसोर्स कर्मियों को लाभ मिलेगा। इसके अलावा यदि जरूरत पड़ती है तो कर्मचारियों को जरूरी काम के समय कभी भी बुलाया जा सकता है।

इन विभागों पर भी लागू रहेंगे आदेश

सोमवार को अतिरिक्त मुख्य सचिव कार्मिक आरडी धीमान की ओर से जारी आदेशों के तहत संबंधित कंट्रोलिंग अधिकारी आवश्यकता का निर्धारण करेंगे और कार्यालयों में काम करने वाले नियमित तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, अनुबंध कंसलटेंट, आउटसोर्स, दैनिक वेतन भोगी और पार्ट टाइम कर्मचारियों का रोस्टर तैयार करेंगे, ताकि सिर्फ जरूरी कार्य को निपटाने के लिए चुनिंदा स्टाफ ही कार्यालय में मौजूद रहे।

सरकार के ये आदेश आपातकालीन-अनिवार्य सेवाओं वाले विभागों के स्टाफ और उनके ड्यूटी के घंटों पर भी लागू रहेंगे। आदेशों के तहत शिफ्ट और काम करने के घंटों में बदलाव किया जाएगा। सरकार के ये आदेश तुरंत प्रभाव से लागू माने जाएंगे।

Related posts

बारिस का कहर जारी, करोड़ों का नुकसान जय राम सरकार ने बना वक़्त गवाए तेजी दिखाते हुए उठाया ये कदम

Viral Bharat

प्रधानमंत्री को गले लगाने के बाद राहुल का आँख मारना लोकतंत्र का शर्मनाक मज़ाक !

Viral Bharat

हिमाचल में अभी नहीं खुलेंगे धार्मिक संस्थान जयराम सरकार का बड़ा फैसला

Viral Bharat