राजनीती राज्यों से

Himachal News : लॉकडाउन में क्या होगा बंद, क्या रहेगा खुला, जानें सबकुछ इस खबर के माध्यम से

जयराम सरकार ने आज प्रदेश को लॉक डाउन करने के अहम निर्देश दिए हैं। हम प्रदेश की जनता से अपील करते हैं लॉक डाउन का पूरा पालन करें और कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में अपना सहयोग दें। आगामी आदेशों तक पूरा प्रदेश लॉकडाउन रहेगा।

आपकी जानकरी के लिए हम यहां बता दें कि इस दौरान जरूरी व मेडिकल सेवाओं पर पाबंदी नहीं होगी। जारी आदेशों के अनुसार सभी सरकारी कार्यालय, मॉल, फैक्टरियां, सार्वजनिक परिवहन बंद रहेंगे। लोगों को घर पर ही रहना होगा।

ये भी पढ़े – Breaking News – पुरे हिमाचल में हुआ लॉकडाउन,जानिए कब तक रहेगा और क्या करना है आपको

बहुत जरूरी काम होने की स्थिति में ही बाहर आ सकेंगे। इसके लिए भी एक परिवार से एक व्यक्ति ही बाहर निकल सकेगा। एचआरटीसी, टैक्सी, ऑटो रिक्शा बंद रहेंगे। कुछ स्पेशल रूट पर बस, टैक्सी, ऑटो रिक्शा को इजाजत दी जाएगी, जैसे अस्पताल, आदि।

अनिवार्य सेवाओं और उनके उत्पादन, सप्लाई, ट्रांसपोर्ट व अन्य लॉजिस्टिक पर रोक नहीं होगी, रेल और हवाई ट्रांसपोर्ट, बिजली, पानी और नगर निगम की सेवाएं, बैंक और एटीएम, प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, टेलीकॉम, इंटरनेट, केबल ऑपरेटर, पोस्टल सर्विसेज, ई-कॉमर्स होम डिलीवरी, फूड शॉप्स, ग्रॉसरी, दूध, ब्रेड, फल-सब्जियां, मीट, फिश, डिपार्टमेंटल स्टोर, अस्पताल, दवा दुकानें, पेट्रोल पंप, एलपीजी गैस, ऑयल एजेंसी, इमरजेंसी व जरूरी काम देख रहे मुलाजिमों एवं लॉ एवं ऑर्डर की स्थिति संभाल रहे मुलाजिमों को इसमें छूट दी गई है।

ये भी पढ़े – Breaking – कोरोना वायरस से घबराया शाहीन बाग! प्रोटेस्ट छोड़ भागीं महिलाएं

लॉक डाउन का निर्णय सिर्फ इसी वजह से लिया गया है ताकि देश में धीरे-धीरे बढ़ रहे कोरोना के प्रकोप को हिमाचल में आने से रोका जाए ताकि इसके मामले ना बढ़ पाए। अब एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हम सबका फर्ज बनता हैं सरकार के आदेशों का पालन करें।

यहां समझिए क्या होता है #Lockdown
.
.
किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए राज्य सरकार कुछ अहम दिशानिर्देश जारी करती है लॉकडाउन जैसा कोई शब्द सरकारी नीतियों में नहीं होता है, लेकिन इसका उद्देश्य आपात स्थिति में सरकार के आदेशों का पालन कराना होता है. Epidemic Disease Act 1897 के तहत सरकारें किसी भी महामारी से निपटने के लिए कुछ आवश्यक दिशानिर्देश नागरिकों को दे सकती हैं.

नागरिकों को सरकार की सलाह मानने के लिए स्वत: बाध्य होना पड़ता है।

-लॉकडाउन वाले जिलों में सभी दफ्तर, कंपनी, दुकानें, मॉल, कैफे, सामुदायिक केन्द्र बंद रहते हैं.

-एक साथ कहीं भी 4 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते हैं, सभी नागरिकों से अपील की जाती है कि वो अपने घरों में ही रहें.

-लॉकडाउन वाले शहर में सभी तरह के कार्यक्रमों पर रोक होती है.

-सार्वजनिक स्थल पर कोई इकट्ठा नहीं हो सकता है.

-सभी सरकारी वाहन सर्विस बंद होते हैं, बस, टेम्पो आदि का संचालन बंद होता है.

-लॉकडाउन वाले शहर में सभी को पूरा समय अपने घर में ही रहने की सलाह दी जाती है.

-हालांकि कुछ आवश्यक सेवाओं की छूट रहती है ताकि नागरिकों को कोई समस्या न हो.

कौन सी जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी

1. दूध की दुकानें खुली रहेंगी, लेकिन एक साथ भीड़ ना इकट्ठी हो.

2. राशन की दुकानें खुली रहेंगी लेकिन अपील यही होती है कि भीड़ इकट्ठी न हो और जिसके घर में राशन मौजूद है वो बेवजह राशन की दुकान पर ना जाए. कुछ मामलों में राशन सरकार सीधे घर तक पहुंचाती है ताकि संक्रमण से बचा जा सके.

3. सब्ज़ी और फल की सप्लाई जारी रहेगी.

4. Food Processing Unit खुली रहती हैं.

5. पेट्रोल पंप खुले रहते हैं लेकिन कुछ स्थानों की चिन्हित कर स्थानीय प्रशासन बंद भी करा सकता है जहां ज़्यादा भीड़ की संभावना होगी.

6. दूध और डेयरी प्लांट खुले रहते हैं.

7. निजी और सरकारी अस्पताल 24 घंटे खुले रहते हैं.

8. मेडिकल स्टोर 24 घंटे खुले रह सकते हैं.

9. मेडिकल और स्वास्थ्य संबंधी उपकरण व दवाईयां बनाने वाली कंपनियां खुली रहती हैं.

10. संचार सेवाएं सुचारू रूप से चलती हैं.

11. टेलीकॉम कंपनियां अपनी जरूरी सुविधाएं खुली रख सकती हैं.

12. बैंक और एटीएम खुले रह सकते हैं.

13. Work From Home किया जा सकता है.

14. Essential सेवाओं के आइटम ट्रांसपोर्ट करने के लिए वाहन चल सकते हैं.

15. किसी भी आवश्यक सामग्री की डिलीवरी सरकार भी नागरिक के घर कर सकती है.

16. एंबुलेंस की व्यवस्था बढ़ाई जाती है.

Lock Down के दौरान कौन कौन बाहर निकल सकते हैं ?

1. पुलिस
2. डॉक्टर, नर्स
3. सफाईकर्मी
4. प्रशासनिक अधिकारी
5. मीडिया
6. आवश्यक सामग्री की सप्लाई करने वाले लोग

ये सभी भी पूरी सुरक्षा के साथ ही निकल सकते हैं. मास्क का इस्तेमाल जरूरी होता है.

अगर कोई प्रशासन के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करता है तो क्या कारवाई हो सकती है?

– IPC की धारा 188 के तहत ज़िला अधिकारी कार्रवाई कर सकता है
– अगर कोई व्यक्ति अपनी कोरोना पॉ​जिटिव की जानकारी छिपाता है तो उस पर कनिका कपूर जैसी FIR भी हो सकती है, IPC की धारा 269 और 270 के तहत भी कार्रवाई हो सकती है.

Related posts

Budget 2019: बजट में टैक्स से जुड़े क्या-क्या हुए बड़े ऐलान, जानिए यहां एक क्लिक में अभी

Viral Bharat

आज जनमंच में 2,512 मांगपत्र एवं शिकायतें प्राप्त, अधिकतर शिकायतों का किया गया मौके पर निपटारा जानिए किस जिले में क्या रहा

Viral Bharat

पूर्ण राज्यत्व दिवस पर सीएम जयराम ठाकुर ने लाखों कर्मचारियों-पेंशनरों को दिया डीए का तोहफा

Viral Bharat