राजनीती राज्यों से वायरल

दिल्ली से UP बिहार की गरीब जनता को खदेड़ने के पीछे केजरीवाल और प्रशांत किशोर के बड़े षड्यंत्र का भंडाफोड़ !

Kejriwal Conspiracy for Bihar Polls

दिल्ली से UP बिहार की गरीब लेबर का अचानक सब कुछ दिल्ली में छोड़ वापिस अपने प्रदेश के लिए देशव्यापी लॉक डाउन में बहार निकलना मात्र कोई समान्य घटना नहीं है, इसके पीछे बहुत बड़े अवसरवादी षड्यंत्र की राजनीतिक नींव काम कर रही है.

भारत के अति महत्वकांशी राजनीतिज्ञ और दिल्ली के वर्तमान मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और उनके निकट सहयोगी और राजनैतिक स्ट्रैटेजिस्ट प्रशांत किशोर की सोची समझी राजनैतिक चाल के अंतर्गत इस षड्यंत्र को अंजाम दिया गया है

दिल्ली से UP बिहार की गरीब जनता को कोरोना वायरस के देशव्यापी संकट के समय घर से बहार निकलवा के वापिस अपने राज्यों में भजने के पीछे गहरी राजनैतिक साजिश है, इस षड्यंत्र में प्रशांत किशोर और केजरीवाल ने एक तीर से अनेक निशानों पे वार किया है…

सबसे पहले पूरे देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री मोदी की छवि को गिराना है, और साबित करना है के देश में मोदी द्वारा लॉक डाउन आवाहन से लाखों गरीब मजदूर बेरोगार हो गए और दूसरा निकट समय में जो बिहार चुनाव आने वाले हैं उनपे अपनी राजनैतिक रोटी सेंकी जाये..और देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में भी अफरा तफरी और बेरोज़गारी को बढ़ावा दिया जाए !

Kejriwal Exposed Again

बिहार में इस साल चुनाव हैं, नीतीश ने समझदारी वाली बात कही थी कि अगर वो बाहर रह रहे बिहारियों को वापस आने देंगे तो लॉक्डाउन टूट जाएगा और फिर उसका असर ख़त्म हो जाएगा।आम आदमी पार्टी को इस साल बिहार में चुनाव लड़ना है, केजरीवाल से भी घटिया आदमी प्रशांत किशोर ने उसे सलाह दी कि अगर इन प्रवासी बिहारियों की लौटने में मदद की जाए तो दो फ़ायदे होंगे, पहला कि ये लोग और इनके घरवाले ख़ुश होंगे, दूसरा, बिहार में बीमारी और अव्यवस्था फैलेगी और इससे नीतीश का सुशासन का दावा कुशासन में बदल जाएगा और इसका पॉलिटिकल माइलेज केजरीवाल और आम आदमी पार्टी को को मिलेगा...इसीलिए उसने सबसे पहले उन लोगों के बीच ये अफ़वाह फैलाई कि लॉक्डाउन 3 से 6 महीने चलेगा, 14 अप्रेल को तो अब 15 दिन ही बचे हैं, ये लोग 15 दिनों के लिए घर नहीं जा रहे, ये इसीलिए जा रहे हैं क्यूँकि उन्हें बताया गया है कि अब 3 से 6 महीने कोई काम नहीं मिलेगा तो यहाँ रहकर क्या करोगे…

केजरीवाल हमेशा राष्ट्रिय स्तर की राजनीती पे भरसक प्रयास करते रहते हैं की कैसे प्रधानमंत्री मोदी की छवि को नीचे गिराया जाये, और इस समय कोरोना वायरस जैसी संकट की घडी में भी उन्होंने अपनी घिनौनी सोच और षड्यंत्र को अंजाम दिया, केजरीवाल ने कोरोना वायरस के खतरे में केवल पूरी दिल्ली को संकट में दाल दिया बल्कि गरीब मजदूर वर्ग को भी झूठी अफवाहों से भर्मित कर के अपना राजनैतिक उल्लू सीधा करने की घटिया कोशिश की !

Related posts

चुनाव के पहले चरण में नक्‍सलियों ने दी थी लोगों को मतदान न करने की धमकी,जहां पिछली बार पड़ा था एक वोट इस बार दो घंटे में हुआ बड़ा कमाल नक्सली उनके समर्थक सदमें में

Viral Bharat

जयराम सरकार की दो टूक चेतावनी बार-बार सैंपल फेल, तो लाइसेंस कैंसिल

Viral Bharat

Himachal News – हिमाचल में च्यूंगम पर रोक, आदेश न मानने पर होगा दो लाख जुर्माना जानिए क्यों लिया गया ये अहम फैसला

Viral Bharat