राजनीती

कोरोना : निजामुद्दीन इलाके में एक साथ कोरोना संदिग्ध मिलने से मचा हड़कंप, ड्रोन से हो रही निगरानी आखिर दरगाह में थे 33 कोरोना संदिग्ध!

आख़िर जिस बात का डर था वो डर सच होता हुआ नजर आ रहा है। नमाज पढ़ने के लिए इकट्ठे होना धर्मिक आयोजन में भीड़ जुटाना बार बार समझाने पर भी ये समुदाय नहीं माना और अब दिल्ली में बड़े खतरे की घंटी बज चुकी है। कोरोना से मुश्किलें लगातार बढ़ रही हैं. राजधानी दिल्ली में रविवार को 23 नए मामले सामने आए. ऐसे में दिल्ली में महामारी का खतरा और तेजी से फैलने की आशंका बढ़ गई है. उधर, शहर के एलएनजेपी अस्पताल में रविवार की शाम 34 संदिग्धों को लाया गया. ये लोग कई दिनों से निजामुद्दीन के एक दरगाह में डेरा डाले हुए थे.

इस ग्रुप में शामिल 64 साल के एक मरीज की मौत हो गई है. बाकी 33 लोगों में भी कोरोना जैसे लक्षण दिखाई दिए हैं. इनका सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं. ये सभी लोग विदेश से धार्मिक यात्रा करके लौटे थे. बता दें कि कोरोना के कहर से राजधानी के बगल में नोएडा भी अछूता नहीं है. यहां भी रविवार तक 32 लोगों के संक्रमित होने की बात सामने आ चुकी है. देखें पूरी रिपोर्ट.

राष्ट्रीय राजधानी के निजामुद्दीन इलाके से लगभग 200 लोगों को कई अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. इनमें से कुछ लोगों के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी मिली थी. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन इलाके में स्थित एक मस्जिद के आसपास के इलाके को खाली करा लिया. यह मस्जिद निजामुद्दीन दरगाह के पास है. इसके अलावा यहां ड्रोन के माध्यम से निगरानी की जा रही है, ताकि लॉकडाउन से संबंधित आदेश का सख्ती से पालन हो सके. इससे पहले दिल्ली के दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इलाके के कुछ लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण होने की जानकारी दी थी. स्वास्थ्य विभाग की टीम यहां पहुंच चुकी है.

दिल्ली पुलिस की टीम निजामुद्दीन इलाके में पहुंच चुकी है. इसके अलावा दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट सीपी डीसी श्रीवास्तव भी वहां मौजूद हैं. एएनआई के अनुसार, धार्मिक कार्यक्रम में आए कुछ लोगों के कोरोना पॉजिटिव मिलने की खबर के बाद दिल्ली पुलिस की टीम वहां पहुंची है. यहां से कई लोगों को जांच के लिए दिल्ली के अलग-अलग हॉस्पिटल में ले जाया जा रहा है.

जानकारी मिल रही है कि मरकज में 18 मार्च को एक धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इसमें देश के कई राज्यों से 500 से ज्यादा लोग इकट्ठा हुए थे. इनमें से ज्यादातर लोग वापस लौट गए थे.

निजामुद्दीन मरकज ने सौंपी है लिस्ट

प्रशासन ने दिल्ली में उन मरीजों की जानकारी इकट्ठा की है, जिन्हें ठंड लगने या बुखार की समस्या हुई हो. दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज ने इससे संबंधित लिस्ट अधिकारियों को सौंपी है. इनमें वैसे लोगों की जानकारी दी गई है, जिन्हें बुखार और ठंड सहित अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्या रही हो. निजामुद्दीन मरकज के प्रवक्ता मोहम्मद शोएब ने बताया कि यह लिस्ट रविवार को प्रशासन को दी गई. इनमें से कई लोगों को उम्र के कारण और बाहर की यात्रा से लौटने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.

लॉकडाउन के उल्लंघन पर डीएम, डीसीपी के खिलाफ कार्रवाई

इधर, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने लॉकडाउन का किसी भी प्रकार का उल्लंघन होने पर संबंधित क्षेत्र के जिलाधिकारियों और पुलिस उपायुक्तों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के सोमवार को निर्देश दिए. उपराज्यपाल ने डीएम और डीसीपी को निर्देश दिया है कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान बिना ई-पास या वाजिब कारण के घूमते पाए गए लोगों को प्रशासन द्वारा स्थापित जिला आश्रय स्थलों में भेजा जाए.उच्च स्तरीय बैठक में ये निर्देश जारी किए गए. वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए इस बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, जिलाधिकारियों, पुलिस उपायुक्तों ने भागीदारी की.

पुलिस कर रही इलाके में ड्रोन से पेट्रोलिंग

पुलिस पूरे इलाके की ड्रोन से निगरानी कर रही है। पुलिस लगातार पेट्रोलिंग भी कर रही है, जिससे यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई बाहर न घूम रहा हो। मरकज से कुछ ही दूर पर प्रसिद्ध सूफी निजामुद्दीन औलिया की मजार है जहां पर बड़ी संख्या में जायरीन यहां आते हैं लेकिन इन दिनों दरगाह पूरी तरह बंद है।

गौरतलब है कि निजामुद्दीन में स्थित मरकज इस्लाम की शिक्षा का प्रचार प्रसार करने के विश्व का सबसे बड़ा केंद्र है जहां कई देशों के लोग आते है।

Related posts

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बोले , सरकार को आपकी सेफ्टी का पूरा ख्याल

Viral Bharat

रामलला के 92 वर्षीय वकील ने कहा था मेरी अंतिम इच्छा है कि मरने से पहले इस मामले को अंजाम तक पहुँचा दूं,आज उन्होंने कर दिखाया

Viral Bharat

मीडिया का स्तर गिरता हुआ रावण दहन को भी राजनितिक रंग देने की कोशिश सरकार के खिलाफ कोई मुद्दा नहीं तो इस तरह मुद्दे बनाये जा रहे है

Viral Bharat