राजनीती

Breaking – चेतावनी मिलने के बाद भी लापरवाह रही केजरीवाल सरकार, दिल्ली को डाला मुसीबत में तबलीगी जमात पर होती रही सिर्फ कागजी कार्रवाई

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में तबलीगी जमात के कार्यक्रम पर अब राज्य की अरविंद केजरीवाल घिरती नजर आ रही है। लॉकडाउन के बाद भी दिल्ली में इतने बड़े कार्यक्रम के आयोजन की अनुमति को लेकर बड़े सवाल उठ रहे हैं।जहां देश में आंकड़े धीरे-धीरे बढ़ रहे थे इस एक आयोजन की वजह से अब पुरे दिल्ली सहित भारत में टेंसन का माहौल हो चूका है। यूपी बिहार वालों को दिल्ली से खदेड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी केजरीवाल सरकार ने लेकिन इन लोगों के लिए कोई कदम नहीं उठाया जो इनका दिल किया इन लोगों ने किया और आज पूरी दिल्ली में कोरोना का गंभीर खतरा मंडरा रहा है। 

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में तबलीगी जमात के आयोजन को लेकर अब घोर लापरवाही की बातें सामने आ रही है। इस आयोजन को नहीं रोक पाने को लेकर राज्य की अरविंद केजरीवाल सरकार भी घिरती जा रही है। खबरों के मुताबिक, अंडमान निकोबार प्रशासन की तरफ से जमात में शामिल 10 लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट दिल्ली प्रशासन को भेजा गया था। बताया जा रहा है कि यह रिपोर्ट 25 मार्च को ही भेजा गया था लेकिन इसपर प्रशासन ने टाल-मटोल वाला रवैया अपनाया और कोई कड़ी कार्रवाई नहीं की। इस कार्यक्रम में शामिल 10 लोगों की कोरोना के कारण मौत होने के बाद हड़कंप मच गया है। केजरीवाल सरकार इस मसले पर उच्च स्तरीय बैठक कर रही है।

जमात के कार्यक्रम पर घिरी केजरीवाल सरकार

दिल्ली से UP बिहार की गरीब जनता को खदेड़ने के पीछे केजरीवाल और प्रशांत किशोर के बड़े षड्यंत्र का भंडाफोड़ !

होती रही कागजी कार्रवाई


अंडमान में तबलीगी जमात में शामिल लोगों के पॉजिटिव होने की रिपोर्ट दिल्ली प्रशासन को बताया गया था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जमात में शामिल होने के बाद लोग अंडमान गए, जहां उनकी तबीयत खराब हुई और कोरोना जैसे लक्षण आने के बाद उनका टेस्ट किया गया था। दिल्ली पुलिस और प्रशासन ने अंडमान की रिपोर्ट मिलने के बाद भी कागजी कार्रवाई में ही समय जाया किया। पुलिस ने मरकज को नोटिस तो जारी किया लेकिन कोई ठोस ऐक्शन नहीं लिया।

जमात में शामिल विदेशियों ने किया वीजा नियमों का उल्लंघन
इस बीच, सरकारी सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्रालय को पता चला है कि निजामुद्दीन तबलीगी जमात में शामिल होने वाले विदेशियों ने वीजा नियमों का उल्लंघन किया था। सरकार के मुताबिक धार्मिक विचारधारा के प्रचार के लिए किसी को वीजा नहीं दिया जाता है। इसे बड़ी चूक माना जा रहा है।

जमात के 24 और लोग कोरोना पीड़ित


मकरज में जमात में शामिल 24 और लोग कोरोना पीड़ित पाए गए हैं। दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ने कहा कि आयोजकों ने घोर लापरवाही की है। तबलीगी जमात का आयोजन घोर अपराध है। जैन ने कहा कि जमात में 1500 से 1700 लोग आए थे। इस कार्यक्रम में 10 से ज्यादा देशों के लोग शामिल हुए थे। मरकज की इस हरकत के बाद दिल्ली और देश में बड़े पैमाने पर कोरोना फैलने का खतरा मंडरा रहा है।

खुलासा – तो इतनी गलत हरकत करके केजरीवाल सरकार ने लोगों को भागने पर किया मजबूर,शर्म करो केजरीवाल सरकार इस तरह अब कई जिंदगियाँ कोरोना खतरे में

घिरी केजरीवाल सरकार


इस बीच मरकज में कार्यक्रम नहीं रोक पाने को लेकर अरविंद केजरीवाल सरकार भी घिर रही है। देश में लॉकडाउन के बाद भी इतने बड़े पैमाने पर तबलीगी जमात का कार्यक्रम होना लोगों को चौंका रही है। कोरोना के कारण मक्का-मदीना तक बंद है। ऐसे में निजामुद्दी के मरकज में तबलीगी जमात कैसे हुआ? इसपर सवाल उठ रहे हैं।

Related posts

बिना मास्क के ख़ैर नहीं,शिमला में बिना मास्क मिले तो एक हजार जुर्माना, डीसी ने जारी किए आदेश

Viral Bharat

सफल हुई मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी की मेहनत इन्वेस्टर मीट हिमाचल में तय से ज्यादा 92 हजार करोड़ की धनवर्षा,2 लाख के करीब को मिलेगा रोजगार

Viral Bharat

ब्रेकिंग न्यूज़ : अटल जी की हालत बहुत नाजुक,हिमाचल के नामी डॉक्टर कर रहे है उनकी देख रेख लोगों की भीड़ एम्स के बाहर

Viral Bharat