राजनीती राज्यों से

Himachal News – निजामुद्दीन मरकज का दौरा करने वालों की कड़ी निगरानी करे प्रशासन सीएम जयराम के आदेश

निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात के जलसे से हिमाचल में लौटने वालों की प्रशासन कड़ी निगरानी करे। ये आदेश मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीडियो कांफ्रेंस के दौरान मिले निर्देशों के तहत सभी जिलों के डीसी और एसपी को दिए। गौर हो कि देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कोरोना वायरस की स्थित को लेकर समीक्षा बैठक की।

प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों से धार्मिक नेताओं को ऐसे आयोजन न करने के लिए प्रेरित करने के लिए भी कहा और उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने धार्मिक नेताओं के साथ बैठक आयोजित कर उनके संदेशों को रिकॉर्ड कर, संचार के विभिन्न माध्यमों से लोगों तक पहुंचाने को कहा, ताकि संबंधित समुदाय के लोगों को धार्मिक सभाओं तथा आयोजनों से दूर रखने के लिए प्रेरित किया जा सके।

पीएम से मिले निर्देशों के अनुसार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राज्य के उपायुक्तों और पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संवाद करते हुए कहा कि वे लोगों को व्यक्तिगत स्वच्छता तथा समाज से कोरोना वायरस को जड़ से खत्म करने के लिए सहयोग देने के लिए जागरूक करें। गैर सरकारी संगठनों को भी इस लड़ाई में शामिल करें। सीएम ने सामाजिक और धार्मिक सभाओं पर पूरी तरह पाबंदी लगाने के निर्देश दिए।

फसल कटाई के लिए किसानों की मदद को तकनीक विकसित करें
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रशासनिक अधिकारियों से कहा कि फसलों की कटाई का समय शुरू हो रहा है और इसके लिए ऐसी प्रणाली विकसित की जाए, जो किसानों के लिए मददगार हो। किसानों को सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए भी जागरूक किया जाए, क्योंकि प्रधानमंत्री ने भी फसलों की कटाई के दौरान किसानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने पर अपनी चिंता व्यक्त की है।

उपायुक्तों से वीडियो कांफ्रेंस में कहा कि वृद्धाश्रमों का भी ध्यान रखा जाए। इसके अलावा आवश्यक वस्तुओं की ढुलाई वाले ट्रकों का आवागमन सुनिश्चित किया जाए, जिससे रोजमर्रा की इन वस्तुओं की आपूर्ति को निरंतर बनाया रखा जा सके।

दालों के पर्याप्त भंडार सुनिश्चित करने के निर्देश
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि दालों को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करवाने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए, क्योंकि इनकी खरीद अन्य राज्यों से की जानी है। उन्होंने कहा कि अधिकारी थोक विक्रेताओं से भी संपर्क करें, ताकि आपूर्ति प्रभावित न हो सके। गुरुवार को राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए आवश्यक वस्तुओं की स्थिति की समीक्षा की।

उन्होंने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग और नागरिक आपूर्ति निगम को लोगों की सुविधा के लिए खुले बाजार में आवश्यक वस्तुओं को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने नागरिक आपूर्ति निगम के डिपो में बफर स्टाक सुनिश्चित करने के लिए भी प्रयास करने को कहा। उन्होंने कहा कि जमाखोरी और मुनाफाखोरी पर नजर रखे जाने पर विशेष बल दिया जाना चाहिए और उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

जयराम ठाकुर ने कहा कि दालों को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करवाने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए, क्योंकि इनकी खरीद अन्य राज्यों से की जानी है। उन्होंने कहा कि अधिकारी थोक विक्रेताओं से भी संपर्क करें, ताकि आपूर्ति प्रभावित न हो सके। सचिव खाद्य एवं आपूर्ति अमिताभ अवस्थी, निदेशक खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति आबिद हुसैन सादिक, निदेशक सूचना एवं जन संपर्क विभाग हरबंस सिंह ब्रसकोन भी अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस बैठक में उपस्थित थे।

किसी भी मदद के लिए टोल फ्री नंबर 1077 पर कॉल करें: मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गुरुवार को बताया कि कोरोना वायरस कोविड-19 पर नियंत्रण के लिए की लॉकडाउन व्यवस्था को शत-प्रतिशत सफल बनाने के दृष्टिगत सभी आवश्यक और प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं।उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों में स्थापित किए गए आपदा नियंत्रण कक्षों का टोल फ्री नंबर 1077 है, जिन्हें आपातकालीन संचालन केंद्र कहा जाता है। उन्होंने कहा 24 घंटे क्रियाशील इस नंबर पर किसी भी मोबाइल या लैंडलाइन नंबर से संपर्क किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार ने लोगों की सहायता के लिए भोजन, आश्रय आदि की समुचित व्यवस्थाएं सुनिश्चित की हैं और प्रदेश में रहने वाले किसी भी व्यक्ति की ओर से आवश्यकता पड़ने पर 1077 पर कॉल की जा सकती है। उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से इस नंबर पर कॉल आ रही हैं जिस पर त्वरित कार्रवाई की जा रही है।

झुग्गियों में रहने वाले 6336 व्यक्तियों को राशन आवंटित
सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार की ओर से प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में झुग्गियों में रहने वाले 6,336 व्यक्तियों को राशन के रूप में सहायता प्रदान की गई, जब उन्होंने 1077 पर संपर्क किया। सभी आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है व सप्लाई चेन में किसी प्रकार की रुकावट नहीं है। किराना की दुकानों में जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है जिसे आमजन को किसी भी परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि राज्य के पास खुले बाजार के साथ-साथ सरकारी गोदामों में भी पर्याप्त मात्रा में खाद्यान्न उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि दूध, ब्रेड, सब्जियां, दवाइयां और मास्क जैसे अन्य सामान बाजार में भी उपलब्ध हैं और पेट्रोलियम उत्पाद और एलपीजी सरकारी गोदामों में उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि सरकार बाजार में सब्जियों और फलों की उचित आपूर्ति सुनिश्चित कर रही है और लोगों को खरीददारी के लिए पर्याप्त समय मिल रहा है।

news source

Related posts

मंत्रिमंडल की बैठक में जयराम सरकार के अहम फैसले,भरे जायेंगे कई विभागों में पद,साथ ही हुई अहम घोषणाएं

Viral Bharat

चीन के लिए बड़ा झटका,लद्दाख तनाव के बीच चीन के सैन्य विशेषज्ञ ने की भारतीय सेना की जमकर तारीफ

Viral Bharat

भीलवाड़ा मॉडल ग्राउंड रिपोर्ट: कोरोना(Corona) से लड़ा महायुद्ध, जिसकी देशभर में चर्चा, वुहान बनने से ऐसे रोका

Viral Bharat