राजनीती

मोदी सरकार ने जारी की रेड,ऑरेंज और ग्रीन जोन के जिलों की सूची, देखें- आपका जिला किसमें शामिल?

देश में लॉकडाउन का दूसरा चरण 3 मई को खत्म हो रहा था। जिसे 14 दिन बढ़ा दिया गया है। अब देश में 17 मई तक लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान गृह मंत्रालय ने कुछ गाइडलाइंस भी जारी की है।

देश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने अलग-अलग जिलों के संक्रमण के प्रभाव के आधार पर रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांटे जाने की सूचना दी है। लिस्ट के मुताबिक, अब देश में कोरोना के हॉटस्पॉट कहे जाने वाले रेज जोन शहरों की संख्या 130 पहुंच चुकी है, जबकि कम या मध्यम प्रभाव वाले ऑरेंज जोन में आने वाले शहरों का आंकड़ा 284 हो गया है। हालांकि, इसी बीच वे शहर जहां कोरोना के मामले नहीं हैं (ग्रीन जोन) जिलों की संख्या 319 पहुंच गई है।

पत्र में दिए डेटा के मुताबिक, देश में हॉटस्पॉट्स की संख्या लॉकडाउन-2 के ऐलान के बाद से 15 दिनों में 23 फीसदी तक गिरी है और अप्रैल 15 के 170 रेड जोन के मुकाबले अब 130 रेड जोन बचे हैं। हालांकि, इसी दौरान देश में ग्रीन जोन (वे शहर जहां 21 दिन से मामले नहीं आए) की संख्या में भी कमी आई है। 15 दिन में देश में ग्रीन जोन की संख्या 356 से गिर कर 319 पहुंच गई है। जो कि इशारा करता है कि कोरोनावायरस के फैलने की गति कम हुई है, लेकिन इसका प्रसार लगातार बढ़ रहा है।

हिमाचल प्रदेश के ऊना,चम्बा,हमीरपुर,कांगड़ा,सिरमौर,सोलन ये जिला ऑरेंज जोन में हैं जबकि बिलासपुर,किनौर,कुल्लू,लाहौल-स्पीति,मंडी, शिमला ग्रीन जोन में हैं। हिमाचल में सुधरते हालात की वजह से ही इस समय एक भी जिला रेड जोन में नहीं है यही वजह है हिमाचल मॉडल की चर्चा हिमाचल सरकार के प्रयासों की सराहना पुरे देश में हो रही है।

पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा है, “रेड और ऑरेंज जोन में आने वाले शहर, जहां नए मामले सामने आ रहे हैं, वहां ट्रांसमिशन की चेन तोड़कर कोरोनावायरस के मामलों को सीमित रखने के लिए जरूरी कार्रवाई की जानी आवश्यक है।” मुख्य स्वास्थ्य सचिव ने पत्र में कंटेनमेंट जोन में लिए जा रहे कदमों की भी जानकारी दी है। इसमें बताया गया है कि रेड जोन में आने और जाने के पॉइंट प्रशासन तय कर रहा है और यहां मेडिकल इमरजेंसी और आवश्यक सेवा से जुड़े लोगों के अलावा किसी को जाने की अनुमति नहीं है।

पत्र में राज्य सरकारो से अपील की गई है कि वे अब नागरिकों की घर-घर जाकर जांच करें और कोरोनावायरस के संदिग्ध मरीज की पहचान कर उन्हें जल्द से जल्द आइसोलेट करने के इंतजाम किए जाएं। गौरतलब है कि पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना संक्रमण के 1993 मामले दर्ज किए गए। वहीं, 73 लोगों की मौत भी हुई है। अब तक भारत में कोरोना से 1147 मौतें हुई हैं और 35 हजार लोग इससे पीड़ित हैं। हालांकि, अभी एक्टिव केस की संख्या 25 हजार से कुछ ज्यादा है।

Related posts

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दिए क्वारंटीन केन्द्रों में बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश

Viral Bharat

दिल्ली हिंसा – तो क्या दिल्ली के जमनापार में थी बड़े कत्लेआम की तैयारी ? क्या कपिल मिश्रा ने राजधानी को बड़ी हिंसा से बचा लिया?

Viral Bharat

इन्वेस्टर मीट के सफल होने से प्रदेश के लाखों युवाओं के लिए प्रदेश में ही खुलेंगे रोजगार के अवसर,इन्वेस्टर मीट सरकार का बड़ा कदम

Viral Bharat