राजनीती राज्यों से

‘धन्यवाद मुख्यमंत्री जी…आपने दवाई को लेकर हमारी सारी टैंशन ही खत्म कर दी’ दवाईयों की घरद्वार होम डिलीवरी से लोगों को मिला बड़ा सहारा

लॉक-डाउन के दौरान लोगों को आने वाली परेशानियों का पूरी तरह से ध्यान जयराम सरकार ने रखा। समय-समय पर जो भी जरूरी निर्णय थे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश की जनता के लिए लिये। उन्ही निर्णयों में एक निर्णय था घरद्वार दवाईयों को पहुँचाने का। इसकी वजह से कई लोगों को घर बैठे – बैठे दवाइयां पहुंचाई गयी। आज हम मंडी से आपके लिए ऐसी ही एक खबर लेकर आये हैं।

‘धन्यवाद मुख्यमंत्री जी…सरकार की घर में दवाई पहुंचाने की पहल ने हमारी तो जैसे सारी टैंशन ही खत्म कर दी।’ इतना कहते हुए मंडी जिला के बाकीचौकी के बसाण गांव की मीरा का कंठ कृतज्ञता से भर आया। उनकी ही तरह घर द्वार पर जरूरी दवाइयां मुहैया करवाने की सरकार की पहल से लाभान्वित हुई करसोग की पदमिनी शर्मा, सदर मंडी के चमन लाल समेत जिला के डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों ने कतृज्ञता भरे दिल से सरकार का आभार जताया है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने लॉकडाउन के बीच सभी जिलों में अधिकारियों को लोगों को दवाइयों की होम डिलीवरी की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री के निर्देशों की अनुपालना में मंडी जिला में दवाइयों की होम डिलीवरी की जा रही है। शिमला हो हमीरपुर हो या कांगड़ा हर जिले में ये सुविधा दी जा रही है जिसका लाभ जरूरतमंद ले रहे हैं।

सिर्फ एक कॉल से हल हो गई टैंशन

बसाण गांव की मीरा की बात को विस्तार देते हुए उनके पति इंद्र सिंह बताते हैं कि मीरा की न्यूरो से जुड़ी दवाईयां खत्म होने को थीं, ऐसे में उन्हें यह चिंता सताने लगी थी कि लॉक डाउन में चंडीगढ़ से दवाई कैसे लाई जाए। इसी बीच उनकी नजर एक व्हाट्सऐप मैसेज में लिखे सीएम हैल्पलाइन नंबर पर पड़ी। उन्होंने तुरंत टोल फ्री नंबर 1070 पर शिमला फोन लगा दिया। वहां से उन्हें सहायता का भरोसा मिला।

इंद्र सिंह बताते हैं कि फोन रखने के चंद मिनट बाद उन्हें सीएमओ मंडी के ऑफिस से कॉल आई। उन्होंने ऑफिस से दिए नंबर पर दवाई की पर्ची व दवाई के रैपर की फोटो व्हाट्सऐप कर दिए। इंद्र अपनी बात को जारी रखते हुए बताते हैं कि इसके बाद उन्हें मंडी से एक दवा विक्रेता का फोन आया, जिसने उन्हें बताया कि चंडीगढ़ से आ रही सप्लाई में वे मेरी बताई दवा मंगवा देगा, जिसकी पेमैंट उन्हें दवा देने आने वाले व्यक्ति के पास करनी है। मैंने हामी भर दी।
मीरा बात को आगे बढ़ाते हुए कहती हैं फोन करने के अगले ही दिन शाम के करीब 3 बजे उनकी बताई दवा उन्हें पहुंच गई। इतनी जल्दी दवाई पहुंचने पर आश्चर्य हुआ, मगर उन्हें हैरानी से ज्यादा खुशी थी।

बकौल मीरा ‘हमारी सारी टैंशन सिर्फ एक कॉल से हल हो गई। हिमाचल सरकार की यह सेवा हमारे जैसे सैंकड़ों परिवारों के लिए बड़ी सहायक है।’
क्या कहते हैं जिलाधीशजिलाधीश ऋग्वेद ठाकुर का कहना है कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार मंडी जिला में कर्फ्यू के बीच सभी जरूरी सेवाएं लोगों को घरद्वार पर मुहैया करवाने के लिए प्रभावी इंतजाम किए गए हैं। सभी एसडीएम के मोबाइल नंबर लोगों से साझा किए गए हैं, लोग संबंधित एसडीएम को कॉल कर दवाई मंगवाने समेत अन्य किसी भी समस्या को लेकर अपनी बात बता सकते हैं।

इन नंबरों पर कर सकते हैं संपर्क

लोग एसडीएम धर्मपुर के मोबाइल नंबर 8091055548, एसडीएम गोहर के मोबाइल नंबर 9816301571, एसडीएम पधर के मोबाइल नंबर 9418030373, एसडीएम सदर के मोबाइल नंबर 7018030861, एसडीएम करसोग के मोबाइल नंबर 9817039278 और 9816240225, एसडीएम जोगिंदरनगर के मोबाइल नंबर 7876224450, एसडीएम सुंदरनगर के मोबाइल नंबर 7018257960, एसडीएम बल्ह के मोबाइल नंबर 9882220800, एसडीएम थुनाग के मोबाइल नंबर 9418061012 और 7018968242 तथा एसडीएम सरकाघाट के मोबाइल नंबर 8629880797 पर संपर्क कर सकते हैं।

राज्यस्तर पर ये हैं हैल्पलाईन नंबर
काबिलेगौर है कि इसके अलावा हिमाचल सरकार ने राज्यस्तर पर हैल्पलाईन नंबर जारी किए हैं । लोग आवश्यक दवाइयां उपलब्ध करवाने लिए के लिए प्रदेश सरकार के टोल फ्री नंबर 1070 या 0177-2626076 और 177-2626077 पर भी संपर्क कर सकते हैं।

Related posts

कैबिनेट मीटिंग,हिमाचल में नई पर्यटन नीति को मंजूरी, साथ ही विभिन्न विभागों में भरे जाएंगे पद

Viral Bharat

पंजाब : यामिनी गोमर – अरविन्द केजरीवाल हैं दलित और हिन्दू सिख एकता विरोधी !

Viral Bharat

सीएम जयराम ने आज IPR अधिकारीयों के साथ बैठक में,सोशल मीडिया के अधिक उपयोग पर दिया बल

Viral Bharat