राजनीती राज्यों से

कांगड़ा को बड़ी राहत ,कोरोना पॉजिटिव के साथियों की रिपोर्ट नेगेटिव

जिला कांगड़ा के कोरोना पॉजिटिव के संग दिल्ली से आए तीनों लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव रही है। इससे जिला कांगड़ा सहित प्रदेश को बहुत बड़ी राहत मिलेगी। वहीं अभी कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए परिवार के सभी 18 लोगों की रिपोर्ट का इंतजार है। परिवार के सभी सदस्यों के सैंपल ले लिए गए हैं और उनकी रिपोर्ट शुक्रवार को आने की उम्मीद है।

वहीं जोगिंद्रनगर के पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए कांगड़ा के सभी व्यक्तियों की रिपोर्ट सामान्य आई है। दूसरी ओर हॉट स्पॉट कांगड़ा-ऊना जिला के 83 सैंपल की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। हालांकि अभी ऊना के 14 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकि है। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में कोरोना के 46 सैंपल की रिपोर्ट नेगेटिव आई है, जबकि एक सैंपल फिर से लिया जाएगा।

उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में कोविड-19 को लेकर विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों में सैंपल एकत्रित किए जा रहे हैं तथा टेस्टिंग सुविधा का भी विस्तारीकरण किया गया। उन्होंने कहा कि सभी नागरिकों को स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित करनी चाहिए। इसके साथ ही अपने गांव या परिवार में बाहरी क्षेत्रों से आने वाले व्यक्तियों के बारे में तुरंत प्रशासन को सूचित करना चाहिए, ताकि समाज को सुरक्षित रखा जा सकें।

साथ ही कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उपायुक्त ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि घरों से बेवजह बाहर नहीं निकलें तथा लॉकडाउन का पूरा अनुपालन सुनिश्चित करें। वहीं धर्मशाला थाना के तहत गमरू क्षेत्र में एक विदेशी व्यक्ति के बिना दस्तावेजों के स्थानीय व्यक्ति के घर में रहने का मामला सामने आया है। कोरिया के एक विदेशी व्यक्ति, जिनका पासपोर्ट लॉकडाउन से पहले 13 मार्च तक वैलेड था, रह रहा था। इस संबंध में धर्मशाला पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

28 दिन क्वारंटाइन होगा पूरा परिवार

धर्मशाला। बाहरी राज्यों से आए नागरिकों के परिवारों को भी 28 दिन के क्वारंटीन की शर्त पूरी करनी होगी। इस बाबत आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। यह जानकारी उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने दी। उन्होंने कहा कि क्वांरटीन नागरिकों एवं परिवारों को सामाजिक दूरी तथा घर में ही रहना होगा। अब होम क्वारंटीन किए नागरिकों की कड़ी निगरानी भी की जाएगी तथा क्वारंटीन के आदेशों की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी अमल में लाई जाएगी। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए अभी तक कोई दवाई नहीं बनी है तथा लोगों को सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए स्वयं ही अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी।

news source

Related posts

पंजाब : यामिनी गोमर – अरविन्द केजरीवाल हैं दलित और हिन्दू सिख एकता विरोधी !

Viral Bharat

केंद्र से 650 करोड़ रुपये की आपदा जोखिम न्यूनीकरण परियोजना को स्वीकृति,मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दी जानकारी

Viral Bharat

सीएम जयराम ठाकुर – आवासहीन गरीबों के लिए इस वित्त वर्ष 10 हजार घरों के निर्माण का लक्ष्य

Viral Bharat