राजनीती राज्यों से

लॉकडाउन न लगता, तो सुंदर घर न लौटते आखिर लॉकडाउन ने 18 साल बाद मिला दिया सुंदर को परिवार के साथ

कोरोना वायरस की वजह से हर दुखी व चिंताओं में डूबा हुआ है और संकट की इस घड़ी में खुशियां जैसे रूठ सी गई हैं, लेकिन इस आपदा की वजह से मंडी के एक परिवार में खुशियों की बहार लौटी है। वर्षों बाद अगर आपके घर का बिछड़ा हुआ कोई सदस्य अचानक मिल जाए, तो कुछ देर के लिए जमीं पर आपके पैर रुक जाएंगे। जिला मंडी के बल्ह क्षेत्र की ग्राम पंचायत सौयरा के एक परिवार को भी ऐसी ही खुशी मिली है।

इसी परिवार का करीब 18 वर्ष पूर्व घर से लापता हुए 72 वर्षीय सुंदर सिंह अब घर लौट आए हैं। सुंदर के छोटे भाई सीताराम शास्त्री ने बताया कि उनका भाई 18 वर्ष पहले लापता हो गया था। सभी ने हर जगह इनको तलाश किया, लेकिन कहीं पता नहीं चल सका, लेकिन अब उनका भाई उन्हें वापस मिल गया है।

उन्होंने कहा कि दो दिन पहले उन्हें सूचना मिली थी कि वह जिला सोलन के राधास्वामी सत्संग भवन स्थित नालागढ़ में कुछ समय से रह रहा था। लॉकडाउन के चलते जब अन्य लोग वहां से चले गए, तो वह वहां पर अकेला रह गया। सत्संग भवन में उसे खाना देने वाले राजेश धीमान व अन्य लोगों ने जब उससे घर न जाने का कारण पूछा। इसके बाद उसका पूरा पता पूछा, तब जाकर उन्हें उसके बारे में जानकारी प्राप्त हुई।

उन्होंने उसके पास की व्यवस्था करते हुए उसे सोयरा गांव तक लाने का पूरा प्रबंध किया। घर में सुंदर की पत्नी के साथ उसकी बहु और पोती रहती है। दो बेटियों की शादी हो चुकी है, जबकि बेटे की करीब छह वर्ष पूर्व एक सडक़ हादसे में मृत्यु हो चुकी है। उन्होंने कहा कि हमने तो अपने भाई की उम्मीद ही छोड़ दी थी, लेकिन अब उसके लौट आने से सबकी जिंदगी में फिर से बहार आ गई है। कोरोना महामारी के बीच उनके लिए यह खुशी आई है।

Related posts

ना कांग्रेस को विकास पसंद है ना कांग्रेसी विकास होता देख सकते हैं ?रिलायंस जियो और बिजली विभाग में हुए इस करार में क्या गलत है फैसला खबर पढ़कर खुद करें

Viral Bharat

BREAKING NEWS : मनी लॉन्ड्रिंग केस में वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य पर ED की करवाई,कोंग्रेसियों में मचा हड़कंप

Viral Bharat

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की सख्ती का असर लगा दिखने लोक निर्माण विभाग का बड़ा फैसला

Viral Bharat