राजनीती राज्यों से

हिमाचल में अभी नहीं खुलेंगे धार्मिक संस्थान जयराम सरकार का बड़ा फैसला

पिछले ढ़ाई माह से कोविड़- 19 के कारण बंद पड़े धार्मिक स्थलों, मॉल एवं होटल-रेस्टोरेंट सोमवार से खुल जाएंगे। इसको लेकर प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी है। पूजा व धार्मिक स्थल सुबह पांच से लेकर रात आठ बजे तक खोले जा सकेंगे। एक बार में 20 से ज्यादा श्रद्धालु पूजा पाठ व दर्शनों के लिए नहीं जा सकेंगे। लेकिन हिमाचल प्रदेश में अभी ऐसा नहीं होने जा रहा है।

उपायुक्त संदीप कुमार ने कहा है कि कोरोना संकट के बीच बंद चितपूर्णी मंदिर सहित जिला के अन्य सभी धार्मिक संस्थान अभी नहीं खुलेंगे। प्रदेश सरकार से अभी तक मंदिर तथा अन्य धार्मिक संस्थान आम जनता के लिए खोलने के लिए दिशा-निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं।

सरकार से निर्देश मिलने के उपरांत जिला प्रशासन ऊना पहले अपनी तैयारियां पूरी करेगी। उसके बाद ही धार्मिक संस्थान खोलने का निर्णय लिया जाएगा, ताकि लोगों के लिए उचित व्यवस्था बनाई जा सके।

कोरोना वायरस एक नई तरह की चुनौती है। इससे निपटने के लिए पहले धार्मिक संस्थानों में लोगों के जाने संबंधी प्रोटोकॉल तय किए जाएंगे। श्रद्धालुओं को धार्मिक संस्थानों में प्रवेश होने की अनुमति नियमावली एवं प्रोटोकॉल के तहत दी जाएगी। जिला प्रशासन सभी की धार्मिक भावनाओं का सम्मान करता है। लेकिन कोई भी मंदिर, मस्जिद तथा गुरुद्वारों सहित अन्य धार्मिक संस्थानों में जाने की जल्दबाजी न करे।

इन संस्थानों को खोलने की अनुमति न मिलने तक यहां न जाएं। उन्होंने कहा कि यह निर्णय आम जनता के हित में है। ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को आगे फैलने से रोका जा सके। अभी तक जिला ऊना की समस्त जनता ने जिला प्रशासन के निर्णयों का सम्मान करते हुए अनुशासन में रहकर पालन किया है और आगे भी ऐसी ही उम्मीद है।

Related posts

कांग्रेस के पूर्व विधायक बंबर ठाकुर पर आत्महत्या के लिए उकसाने पर मामला दर्ज, खुदकुशी से पहले युवक ने लगाया था आरोप

Viral Bharat

हिमाचल में नहीं थमने दी जाएगी विकास की रफ्तार, जयराम सरकार ऑनलाइन करेगी विकास परियोजनाओं के शुभारंभ

Viral Bharat

कांग्रेस के झूठे बेबुनियाद आरोपों से आहत मुख्यमंत्री जय राम ने दे डाली विपक्ष को सीधी चेतावनी,कोंग्रेसी खेमें में बड़ी हलचल

Viral Bharat