राजनीती राज्यों से

बिना तथ्यों के आरोप, तो करेंगे केस, उद्योग मंत्री विक्रम ने बयान पर घेरे कांग्रेस नेता

हिमाचल प्रदेश इलेक्ट्रॉनिक्स विकास निगम की छवि खराब करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ हुई एफआईआर पर उद्योग मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि विपक्ष को आलोचना करने का पूरा अधिकार है, लेकिन यदि तथ्यों के बिना सरकार की छवि को धूमिल करने के लिए झूठे आरोप लगाए गए, तो सरकार अपराधात्मक मामला दर्ज करने से गुरेज नहीं करेगी।

उद्योग मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर ने कांग्रेस नेता जीएस बाली और कौल सिंह के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा है कि भ्रष्टाचार के अड्डे की सरकार चलाने वाले कांग्रेस पार्टी के नेताओं के मुंह से शराफत का राग अच्छा नहीं लगता।

विक्रम ठाकुर ने जीएस बाली पर करीबन संस्थान अपने ही विधानसभा क्षेत्र में खोलने तथा अन्य विधानसभा क्षेत्रों की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि राजनीति के अंदर इस तरह के नेताओं को नालायक मंत्री की संज्ञा दी जाती है। उन्होंने पूर्व आईपीएच मंत्री कौल सिंह के विभाग में हुए घोटाले का जिक्र करते हुए कहा कि इस घोटाले की जांच अभी भी जारी है, जिसमें कई लोग दोषी पाए गए हैं, जबकि भाजपा सरकार ने भ्रष्टाचार के मामलों पर त्वरित कार्रवाई की है।

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के लगातार कोर्ट कचहरियों में चक्कर काटने का उदाहरण देते हुए कहा कि प्रदेश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ कि जब प्रदेश का मुखिया और उनका पूरा परिवार जमानत पर रहा। शराब के थोक व्यापार के लिए गठित किए गए हिमाचल प्रदेश बेवरेज लिमिटेड की स्थापना से प्रदेश के राजस्व को 200 करोड़ रुपए के घाटे का खुलासा करते हुए विक्रम ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस सरकार का एकमात्र उद्देश्य अपने चहेतों को करोड़ों रुपए का लाभ पहुंचाना रहा। उद्योग मंत्री विक्त्रम ठाकुर ने साफ कहा कि सरकार को विपक्ष के किसी भी प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं है ।

SOURCE

Related posts

हिमाचल प्रदेश जयराम सरकार की मुख्यमंत्री रोशनी योजना 2019 के बारे में विस्तार से जानें

Viral Bharat

लोगों के दिलों में जल्दी ही जगह बना ली जयराम सरकार ने !इन कारणों की वजह से निरंतर बढ़ रही है जयराम सरकार की लोकप्रियता

Viral Bharat

अभी-अभी : पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की हालत नाजुक, हाल-चाल जानने एम्स पहुंचे मोदी वेटिंलेटर पर हैं पूर्व PM

Viral Bharat