राजनीती राज्यों से

LOCKDOWN में सामने नहीं आया कोई कांग्रेसी, UNLOCK होते ही सीएम से इस्तीफा मांगने पहुंच गए सभी

जिस तरह ऑडियो लीक का मामला सामने आया था और उसके तुरंत बाद मुख्यमंत्री जयराम द्वारा करवाई के आदेश दिए गए थे,ये घटना पुरे प्रदेश ने देखी थी। इसके बाद भी जिस तरह से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के ऊपर सवाल कांग्रेस ने उठाये वो समझ से परे है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर साफ़ बोल चुके हैं वो किसी को भी नहीं छोड़ेंगे जो भी गड़बड़ी करेगा उसे उसकी सजा मिलेगी। विजलेंस जांच में तेज़ी इसी का परिणाम है।

प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान कांग्रेस पार्टी का एक भी नेता लोगों की समस्याओं को लेकर मैदान में नहीं उतरा। वहीं, अब जब अनलॉक हुआ, तो एकाएक ही कांग्रेस नेताओं ने प्रकट होकर मुख्यमंत्री से इस्तीफा मांगना आरंभ कर दिया है। यह काफी दुखद है। यह कहना है प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डा. राजीव सहजल का।

सोलन से पूर्व मंत्री और वर्तमान कांग्रेस विधायक पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के 70 दिन तक पूर्व मंत्री जनता के बीच जाने की बजाय पता नहीं किन कंदराओं में छिपे रहे और जैसे ही अनलॉक आरंभ हुआ तो एकदम से प्रकट हो गए। कोरोना महामारी के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मिले दिशा-निर्देशों के बीच मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने स्तर पर भी बेहतरीन कार्य किया है। इस दौरान लोगों से जुड़ी विशेषकर गरीब तबके की छोटी से छोटी जरूरतों को पूरा करने का सफल प्रयास किया गया है।

भाजपा ने भी बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं के माध्यम से अपना योगदान दिया है, जबकि कांग्रेस का न कोई नेता और न ही कार्यकर्ता लॉकडाउन के दौरान लोगों की सहायता के लिए आगे आया।

Related posts

ट्रिपल तलाक अवैध, करता है मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का हनन – इलाहबाद हाई कोर्ट !!

Viral Bharat

रामलला के 92 वर्षीय वकील ने कहा था मेरी अंतिम इच्छा है कि मरने से पहले इस मामले को अंजाम तक पहुँचा दूं,आज उन्होंने कर दिखाया

Viral Bharat

प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में लिए गए बड़े फैसले,प्रतियोगी परीक्षाओं में महिला उम्मीदवारों को लेकर बड़ी खबर

Viral Bharat