राज्यों से

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर हुई थी शिकायत,एचआरटीसी चंबा डिपो में घोटाले की चल रही जांच के बीच ऑडिटर सस्पेंड

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री हेल्पलाइन कितनी कारगर है उसका ये खबर सबसे बड़ा सबूत है। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर शिकायत आई थी की चम्बा डिपू में घोटाले का शक है। उसके बाद वहाँ पर जांच टीम भेजी गयी थी।

एचआरटीसी चंबा डिपो में हुए घोटाले की जांच करने पहुंची टीम को जांच में सहयोग न करने पर सीनियर ऑडिटर पर गाज गिर गई है। एचआरटीसी प्रबंधन द्वारा जांच टीम को सहयोग न करने पर सीनियर ऑडिटर को सस्पेंड कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि सीनियर ऑडिटर जांच टीम के चंबा पहुंचने से पहले छुट्टी पर चला गया। साथ ही जांच से बचने के लिए केजुअल लीव और अनलीव भेज कर जांच से किनारा कर रहा था। ऐसे में एचआरटीसी प्रबंधन चंबा ने सख्त कदम उठाते हुए उसे सस्पेंड कर दिया है।

परिवहन मजदूर संघ ने चंबा डिपो में चालकों-परिचालकों के रात्रि भत्ते और ओवरटाइम के पैसे एचआरटीसी के एक ही कर्मचारी के खाते में डालने का खुलासा किया था। जिसके तहत बकायदा जिला चंबा में जांच के लिए शिमला और धर्मशाला से दो टीमों को 27 जून को जांच के लिए भेजा गया। जांच टीम के चंबा में पहुंचने से ठीक एक दिन पहले 26 जून को एचआरटीसी का सीनियर ऑडिटर केजुअल लीव पर चला गया।

टीम ने चंबा में अपनी तफ्तीश शुरू की। सूत्र बताते हैं कि जांच टीम द्वारा कई बार कर्मचारी को भी बुलाया गया। इसके बावजूद कर्मचारी जांच टीम के समक्ष उपस्थित नहीं हुआ। वहीं, परिवहन मजदूर संघ के अध्यक्ष शंकर सिंह ठाकुर ने कहा कि सीनियर ऑडिटर के खाते में किस आधार पर सभी चालक-परिचालकों की मेहनत की कमाई जाती रही। इतना ही नहीं, सीनियर ऑडिटर जांच के दौरान बिना एफआईआर के ही अग्रिम जमानत ले आया।

ऐसे में सीनियर ऑडिटर द्वारा जांच टीम को सहयोग न करने पर एचआरटीसी प्रबंधन ने कार्रवाही करते हुए सस्पेंड कर दिया है। आरएम चंबा सुभाष रणहोत्रा ने बताया कि सीनियर ऑडिटर 26 जून से केजुअल पर चला गया था। बुधवार को कर्मचारी द्वारा अनलीव भेजी गई। कर्मचारी द्वारा जांच टीम को सहयोग न करने पर ये कार्रवाही की गई है। बहरहाल, एचआरटीसी प्रबंधन चंबा द्वारा उसे सस्पेंड कर दिया गया है।

Related posts

सीएम जयराम ने वित्त आयोग के समक्ष उठाए ये बड़े मामले, हवाई हड्डे के लिए मांगे 2000 करोड़ रुपये का विशेष अनुदान

Viral Bharat

एक माह की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार द्वारा फ्री किये गए 42 हजार के इंजेक्शन ने आईजीएमसी में बचाए 30 मरीज

Viral Bharat

HRTC डीजल घोटाले की जांच रिपोर्ट सरकार को सौंपेगा विजिलेंस,कांग्रेस के समय हुआ था घोटाला

Viral Bharat