राज्यों से

बेलक्मैल करना पड़ा भारी,आरटीआई कार्यकर्ता 50 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार

हिमाचल प्रदेश राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो हमीरपुर की टीम ने एक आरटीआई कार्यकर्ता को 50 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगहाथ गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान यशपाल निवासी गांव जंगली डाकघर महारल, तहसील बिझड़ी जिला हमीरपुर के रूप में हुई है।

शुक्रवार को शिकायकर्ता ने उसे महारल स्कूल के समीप पैसे ले जाने के लिए बुलाया था। साथ ही विजिलेंस को भी इस बारे में सूचना दी गई। यशपाल ने जैसे ही 50 हजार रुपये हाथ में पकड़े तो विजिलेंस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। यशपाल ने पशुपालन विभाग में सेवारत विनोद कुमार की पशुपालन विभाग और मुख्यमंत्री सेवा संकल्प पर जाली प्रमाण पत्रों के जरिये पदोन्नति हासिल करने की शिकायत की थी। आरटीआई से ली गई सूचना में विभाग ने पाया था कि विनोद कुमार का बारहवीं का सर्टिफिकेट जाली है। पशुपालन विभाग की ओर से की गई जांच में विनोद कुमार के प्रमाण पत्र जाली पाए गए थे और आगामी कार्रवाई के लिए रिपोर्ट पशुपालन निदेशालय शिमला भेजी गई है। लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

उधर, विजिलेंस हमीरपुर के डीएसपी लालमन शर्मा ने कहा कि वेटरनेरी फार्मासिस्ट विनोद कुमार की शिकायत पर यशपाल को 50 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। आरोपी को शनिवार को हमीरपुर न्यायालय में पेश किया जाएगा। वेटरनरी फार्मासिस्ट पर भी फर्जी दस्तावेजों के जरिये पदोन्नति हासिल करने का आरोप है, लेकिन यह मामला पशुपालन विभाग के पास है। पशुपालन विभाग हमीरपुर के उपनिदेशक डॉ. मनोज कुमार ने कहा कि विनोद कुमार ने ओपन स्कूल के जरिये बारहवीं का सर्टिफिकेट विभाग को दिया था। लेकिन शिकायत मिलने के बाद जब विभाग की टीम स्कूल शिक्षा बोर्ड के पास रिकॉर्ड लेने पहुंची तो वहां पाया कि उनके यहां से यह सर्टिफिकेट जारी नहीं हुआ। इस मामले में आगामी कार्रवाई के लिए रिपोर्ट निदेशालय भेजी गई है।

source

Related posts

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बोले राष्ट्र के समग्र विकास तथा मजबूत और जीवंत समाज के निर्माण में युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण

Viral Bharat

सराहनीय कदम नमामि गंगे परियोजना की तर्ज पर ब्यास नदी के लिए भी जल्द ही बनेगी DPR

Viral Bharat

राज्य सरकार का अच्छा निर्णय,जिला सिरमौर में पहली बार सरकारी एजेंसियों द्वारा स्ट्राॅबेरी की खरीद से स्ट्राॅबेरी उत्पादकों को मिली राहत

Viral Bharat