राजनीती

एक बिमारी से पीड़ित व्यक्ति को सस्ती पब्लिसटी के लिए निजी डिजिटल चैनल द्वारा किया गया इस्तेमाल,जानिए असल सच्चाई

आज के समय मीडिया जिस तरह से सस्ती पब्लिसिटी लेने के लिए काम कर रहा है वो शर्मनाक है। एक डिजिटिल मीडिया पोर्टल द्वारा जिस तरह से झूठ परोसा गया है एक खबर को जिस तरह से दिखाया गया उसकी सचाई हम आज आपके सामने लेकर आये हैं। पंचायती राज मंत्री को लेकर ये खबर चलाई गयी की इनके राज में एक बिमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद नहीं की गयी।

 

Right Foundation नाम के पेज से भी इस फर्जी खबर को चलाया गया।

जबकि सच्चाई ये है की उस व्यक्ति की मदद अक्टूबर में जब वो मदद के लिए मिला था तभी कर दी गयी थी। फिर आज अचानक वो निजी डिजिटिल चैनल वाले उसके पास पहुँचते हैं और इस खबर को इस तरह दिखाया जाता है की उसकी कभी मदद ही नहीं की गयी।

जिस व्यक्ति की यहां हम बात कर रहे हैं वो कुटलेहड़ विधानसभा क्षेत्र के निवासी हैं और उनका नाम अशोक है, जिनके पांव का ऑप्रेशन होगा और उनका उपचार अभी ऊना अस्पताल में चल रहा है। पंचायती राज मंत्री द्वारा टांडा, कांगड़ा अस्पताल में तैनात वरिष्ठ चिकित्सकों से अशोक के उपचार संबंधी बात अक्टूबर में ही कर ली गयी थी, जिस पर डॉक्टर द्वारा मंत्री को उसको लेकर जानकारी और दवाओं संबंधी एस्टीमेट दिया गया था।

इसके तहत तभी पंचायती राज मंत्री द्वारा कुछ खर्चों के लिए 20,000 रुपये की राशि अशोक के बैंक खाता में जमा करवाई गयी थी और ऊना अस्पताल में चिकित्सकों से अशोक को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने की बात भी की थी।

इसके बाद भी जिस तरह से इस खबर को दिखाया गया है उसके ऊपर सोचना बहुत ही जरूरी है। आज सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए कुछ चैनल कुछ भी कर सकते हैं ये साफ़ नजर आ रहा है।

Related posts

Himachal News- आवश्यक वस्तुओं की प्रदेश में ना हो कमी इसको लेकर जयराम सरकार गंभीर,इन जिलों में जरूरी समान लेकर पहुँची इतनी गाड़ियाँ

Viral Bharat

कोई कितना भी विरोध कर ले लेकिन विरोधी भी जानते हैं कोरोना माहमारी में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने नहीं छोड़ा किसी हिमाचलवासी को अकेला

Viral Bharat

Himachal News – सरकारी कार्यालय अब 31 मार्च तक रहेंगे बन्द,केवल आवश्यक सेवाओं वाले सार्वजनिक सरकारी कार्यालय काम करते रहेंगे।

Viral Bharat