देश राज्यों से वायरल

‘ई-परिवहन’ लॉन्च करने वाला देश का पहला राज्य बना हिमाचल प्रदेश, अब ऑनलाइन हो जाएंगे ये काम

आम आदमी पार्टी बड़ी बड़ी बातें करती रही लेकिन हिमाचल सरकार ने कर दिखाया। हिमाचल में परिवहन विभाग पूरी तरह ऑनलाइन हो गया है। लोगों को अब विभाग की सभी सेवाएं ऑनलाइन मिलेंगे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल में ई परिवहन सेवा का शुभारंभ किया है। हिमाचल ऐसी सेवा देने वाला देश का पहला राज्य बना है।

हिमाचल प्रदेश के लोगों को अब ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए एसडीएम और आरटीओ के दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। अब लोग घर बैठे ही कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल पर हिमाचल परिवहन विभाग की वेबसाइट पर जाकर ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे। ड्राइविंग लाइसेंस ही नहीं वाहन पंजीकरण, वाहनों की पासिंग, उनके परमिट और आरसी लेने के लिए भी लोगों को अब दफ्तरों में नहीं जाना पड़ेगा। सभी काम विभाग की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन हो सकेंगे।

परिवहन विभाग की सभी सेवाएं वीरवार से जयराम सरकार ने शत प्रतिशत ऑनलाइन कर दीं। इस सेवा के शुरू होने के बाद हिमाचल देश का पहला ऐसा राज्य बन गया जिसके एक विभाग में सभी सेवाएं ऑनलाइन मिलेंगी। वीरवार को हिमाचल के सभी जिलों में ई परिवहन सेवा का शुभारंभ मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने किया। इस मौके पर परिहवन मंत्री बिक्रम ठाकुर, शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज सहित विभाग के कई अधिकारी भी मौजूद रहे।

शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि अगर लोगों को ऑनलाइन परिवहन सेवाओं में दिक्कतें आएं तो वे 0177-2654185 दूरभाष नंबर पर संपर्क कर सकेंगे। उनकी समस्या का तुरंत निदान होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने की दिशा में काम कर रहा है।

पिछले साल जुलाई में दो जिलों में शुरू हुआ था पायलट प्रॉजेक्ट
हजारों ट्रांसपोर्टरों और लोगों को लाभ देने के लिए जयराम सरकार ने हिमाचल में जुुलाई 2020 में कांगड़ा और शिमला जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर ई परिहवन सेवा को शुरू किया था। उस दौरान परिवहन विभाग के निदेशक रहे जेएम पठानिया ने तत्कालीन परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर के साथ मिलकर अहम रोल निभाया था। अब 8 माह बाद ई परिवहन सेवा को पूरे प्रदेश में लागू कर दिया गया। वाहन मालिकों को अब सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। प्रदेश में लगभग 18 लाख वाहन पंजीकृत हैं।

ये होंगे फायदे
– वाहनों की रजिस्ट्रेशन आनलाइन घर बैठे होगी।
– पैसे का लेनदेन पूरा कैशलेस होगा
– ट्रांसपोर्टरों को वाहनों के परमिट घर बैठे मिलेंगे, शिमला नहीं जाना पड़ेगा। परमिट का स्टेटस ऑनलाइन चेक किया जा सके।
– ट्रांसपोर्ट का ट्रैक्स, परमिट रिन्यू, फीस, सिटिंग कैपेसिटी बढ़ाने जैसा सारा काम ऑनलाइन होगा।
– गाड़ी की पासिंग के लिए ऑनलाइन बुकिंग होगी।
– ड्राइविंग लाइसेंस की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन, सिर्फ ड्राइविंग टेस्ट के लिए जाना पड़ेगा।

Related posts

Himachal News – बद्दी से निकलेगा कोरोना वायरस के नाश का बाण,हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का उत्पादन बड़े पैमाने पर शुरू

Viral Bharat

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा प्रदेश में अभी तक किसी व्यक्ति में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि नही,कोरोना को लेकर हुई अहम बैठक

Viral Bharat

राजस्थान तक पहुंची फर्जीवाड़े की आंच,मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने साफ़ कहा कोई आरोपी नहीं बचेगा युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ नहीं होने देंगे

Viral Bharat