राजनीती वायरल

कौल सिंह बोले- मैंने तो जुमला कहा था, नहीं लूंगा राजनीति से संन्यास तो क्या कांग्रेस असली जुमलों वाली पार्टी है ? सोशल मीडिया पर उठे सवाल

भाजपा पर हमेशा कांग्रेस के नेताओं द्वारा एक आरोप लगाया जाता रहा है कि भाजपा जुमलों वाली पार्टी है। लेकिन अब सोशल मीडिया पर एक बहँस छिड़ चुकी जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कोल सिंह ठाकुर के बयान को लेकर जनता सीधा बोल रही है कि जुमलों वाली पार्टी तो कांग्रेस निकली। दरसल कांग्रेस नेता कोल सिंह ठाकुर अपने उस वादे से मुकर चुके हैं जिसमें उन्होंने चुनावी नतीजों के बाद राजनितिक सन्यास की घोषणा की थी।

कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि चुनावों के दौरान कई जुमले कहे जाते हैं और उनकी यह बात भी सिर्फ एक चुनावी जुमला ही थी। मेरे राजनीतिक भविष्य का फैसला द्रंग विधानसभा क्षेत्र की जनता करेगी। उपचुनाव में हिमाचल प्रदेश के मंडी संसदीय सीट से भाजपा के प्रत्याशी ब्रिगेडियर कुशाल ठाकुर भले ही चुनाव हार गए हों, लेकिन भाजपा प्रत्याशी ने अपनी गृह पंचायत से मिली लीड से कांग्रेस के दिग्गज नेता कौल सिंह को संन्यास पर भेजने का इंतजाम कर दिया था। जिन्होंने चुनावों के दौरान इस बात का ऐलान कर दिया था कि अगर ब्रिगेडियर को अपनी गृह पंचायत से बढ़त मिल गई तो वे सन्यास ले लेंगे। मंगलवार को जब परिणाम  सामने आए तो मालूम हुआ कि कुशाल ठाकुर ने अपनी गृह पंचायत नगवाईं से बढ़त ली है।

लेकिन जिस तरह कांग्रेस के नेता अब अपने वादे से मुकर चुके हैं उसके बाद सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेता की खूब खिल्ली उड़ाई जा रही है। यही नहीं कोल सिंह के उस बयान की भी जमकर आलोचना की जा रही है जिसमें उन्होंने खुद माना है की चुनावों के दौरान नेता कई जुमले कह जाते हैं। तो अब सबसे बड़ा सवाल यही है कि कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने चुनावों में सिर्फ जुमले ही छोड़े थे बड़ी बड़ी बातें करके ?

इस बारे में जब मीडिया ने उनसे बात की तो उन्होंने चुनावों के दौरान अपनी कही हुई बात को जुमला बता दिया और संन्यास लेने की बात से मुकर गए। कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि चुनावों के दौरान कई जुमले कहे जाते हैं और उनकी यह बात भी सिर्फ एक चुनावी जुमला ही थी। मेरे राजनीतिक भविष्य का फैसला द्रंग विधानसभा क्षेत्र की जनता करेगी। द्रंग की जनता ने भाजपा प्रत्याशी को अधिक बढ़त हासिल करने से रोकने में पूरी कोशिश की और वे इसमें कामयाब भी हुई है। द्रंग से भाजपा प्रत्याशी को मात्र 2621 मतों की लीड ही मिल पाई है।

Related posts

जयराम सरकार को युवा अफसरों पर भरोसा, इन तेज नौजवान IAS को सौंपी जिलों की कमान जानिए वजह

Viral Bharat

Himachal News – जयराम सरकार की अच्छी पहल,सड़क हादसों से निपटने की तैयारी, 112 ब्लैक स्पॉट को सुधारने का काम शुरू

Viral Bharat

जब मनमोहन सिंह PM थे, सत्ता में कॉन्ग्रेस+ की सरकार थी तो उस वॉट हॉकी टीम के खिलाड़ियों को जूते तक नसीब नहीं थे

Viral Bharat