राजनीती राज्यों से

दाल के पैकेट में मरा चूहा मिलने के मामले में खुलासा, पैकेट के साथ की गयी थी छेड़छाड़ वीडियो बनाने वाले व्यक्ति के पास दाल का वह पैकेट उपलब्ध नहीं व्यक्ति मुकरा

बिना जांच किये हर वीडियो को सच मानने वाले आज के समय सबसे बड़े मुर्ख हैं। दाल के पैकेट में चूहा निकला ये वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी। मीडिया वालों ने भी उस वीडियो को जमकर शेयर किया एक समय के लिए किसी मीडिया वाले ने उसकी पहले जांच करना सही नहीं समझा। हालंकि सोशल मीडिया पर बहुत से लोग ऐसे थे जिन्होंने कमेंट में लिखा था की दाल के पैकेट के साथ छेड़छाड़ की गयी है। अब यही सच सामने आया है जब विभाग के द्वारा जांच अम्ल में लाई गयी।

वीडियो बनाने वाले व्यक्ति के पास नहीं मिला दाल का पैकेट। हिमाचल के सिरमौर जिला के शिलाई विधानसभा क्षेत्र के कफोटा के पाब गांव में दाल के पैकेट में मरा हुआ चूहा मिलने की घटना में नया खुलासा हुआ है। मामले पर संज्ञान लेते हुए हिमाचल प्रदेश राज्य नागरिक आपूर्ति निगम समिति के क्षेत्रीय प्रबंधक नाहन विजय शर्मा ने मौके पर जांच की। जांच में उन्होंने पाया कि वीडियो बनाने वाले व्यक्ति के पास दाल का वह पैकेट उपलब्ध नहीं है, जिसके अंदर चूहा मिलने का उस व्यक्ति द्वारा दावा किया गया है।

जांच में खुलासा हुआ है कि वीडियो में जो पैकेट दाल चना का दिखाया जा रहा है उसमें पैकेट के साथ छेड़छाड़ करके सारे घटना क्रम को अंजाम दिया गया। क्योंकि पैकेट एक तरफ से खुला हुआ है और फिर उसे काटा गया । जबकि निगम द्वारा वितरित की जा रही दाल के पैकेट एक तरफ से लगभग 90 प्रतिशत पारदर्शी है और दूसरी ओर से 40 प्रतिशत पैकेट का हिस्सा पारदर्शी होता है। इसीलिए चूहे जैसी बड़ी चीज पैकेट के बाहर से बिना खोले आसानी से भी देखी जा सकती है। उन्होंने बताया कि चूहे जैसी बड़ी चीज यदि पैकेट के अंदर होती तो विभाग या निगम के ध्यान में लाया जा सकता था जिससे कि किसी भी प्रकार की अनियमितता को सत्यापित किया जा सकता था और संबंधित आपूर्तिकर्ता के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जा सकती थी।

क्षेत्रीय प्रबंधक ने बताया कि वर्तमान में निगम के द्वारा जो दाले वितरित की जा रही है वह एनसीसीएफ (NCCF) द्वारा पूरी तरह स्वचालित संयंत्र में पैक की जाती है और निगम के माध्यम से उपभोक्ताओं को वितरित की जाती है जिसमें गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाता है। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा थोक गोदाम कफोटा में दाल चना तथा अन्य खाद्य सामग्री के बाकी बचे स्टॉक को भी मौके पर जांचा गया और गुणवत्ता को प्रमाणित करने के लिए दाल चना के सैंपल को विश्लेषण के लिए शिमला की प्रयोगशाला में भेजा गया है।

Related posts

CM जय राम ठाकुर ने बंजार विधानसभा क्षेत्र को समर्पित की 73 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाएं

Viral Bharat

VIDEO : पहले पाकिस्तान जाकर मोदी को हटाने की भीख मांगते थे,अब खुलेआम मोदी को जिन्दा जलाने का समय आ गया ऐसा बयान कोंग्रेसी नेता दे रहे हैं

Viral Bharat

Success Story 4 : मुख्यमंत्री हेल्पलाइन का कमाल,1100 पर की कॉल एक महीने में स्कूलों को मिल गए 40 सीएचटी

Viral Bharat