राजनीती राज्यों से

रामपुर में बनेगा NDRF का बेस सेंटर: एफसीए मंजूरी मिली, आपदाओं के समय होगा तुरंत बचाव कार्य

हिमाचल प्रदेश के रामपुर में जल्द ही एनडीआरएफ का बेस सेंटर स्थापित होगा। इससे सतलुज नदी में आने वाली बाढ़ सहित अन्य आपदाओं के समय राहत और बचाव कार्य तुरंत शुरू हो सकेंगे। रामपुर और आसपास के क्षेत्रों में होने वाली किसी भी आपदा के समय एनडीआरएफ के जवान राहत कार्यों को अंजाम देंगे।

वर्तमान समय में हिमाचल प्रदेश के मंडी, नालागढ़ और रामपुर में एनडीआरएफ (नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स) की कंपनियां काम कर रही हैं। रामपुर उपमंडल के ज्यूरी में एनडीआरएफ की कंपनी अस्थायी तौर से चल रही है, जिसमें करीब 50 जवानों की तैनाती की गई है। अब जल्द ही रामपुर के डकोलढ़ में एनडीआरएफ का बेस सेंटर स्थापित होगा, जिसमें करीब 500 जवानों की तैनाती होगी।

बेस सेंटर के निर्माण के लिए स्थानीय प्रशासन की ओर से करीब 50 बीघा भूमि का चयन किया गया है और इस भूमि की एफसीए मंजूरी का कार्य भी पूरा कर लिया गया है। जल्द ही यहां बेस सेंटर का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

मंडी, नालागढ़ और रामपुर स्थित कंपनियां अभी हेडक्वार्टर जसूर से ऑपरेट हो रही हैं। एनडीआरएफ टीम जिला शिमला, कुल्लू, किन्नौर और लाहौल स्पीति तक अपनी तुरंत सेवाएं उपलब्ध करवाएगी। एनडीआरएफ के अधिकारी विनोद कुमार ने कहा कि आपदा के समय एनडीआरएफ 24 घंटे सेवाएं देने के लिए तत्पर है। रामपुर में बेस सेंटर बनने से प्रदेश के चार जिलों के लोगों को तुरंत मदद मिलेगी। एसडीएम रामपुर सुरेंद्र मोहन ने कहा कि रामपुर के डकोलढ़ में जल्द ही एनडीआरएफ का बेस सेंटर स्थापित होगा। सेंटर की आधारभूत संरचना के लिए करीब 50 बीघा से अधिक भूमि चयनित की गई है।

Related posts

CORONA वायरस की वजह से इस वक्त सहमी हुई है पूरी दुनिया, लेकिन इसी बीच आज नवरात्रि के पहले दिन आई ये बेहद अच्छी खबर.

Viral Bharat

जय राम सरकार की नई ऊर्जा नीति के समर्थन में उतरे स्मॉल हाइड्रो पावर प्रोडूसर्स, पूर्व कांग्रेस सरकार पर लगाए ये गंभीर आरोप

Viral Bharat

जयराम सरकार ने अपने वादे के अनुरूप प्रदेश के कारोबारियों से किया वादा किया पूरा,हिमाचली व्यापारियों की जीएसटी लिमिट बढ़ी

Viral Bharat